कल से जनता के लिए खुलेगा मुगल गार्डन, राष्ट्रपति ने किया उद्यानोत्सव का उद्घाटन

57

मुगल गार्डन आम जनता के लिए कल 5 फरवरी से 8 मार्च (सोमवार को छोड़कर, उस दिन बाग की देखभाल की जाती है) तक 10 बजे से लेकर 4 बजे शाम तक खुला रहेगा। दिल्ली विधानसभा चुनाव के मद्देनजर मुगल गार्डेन 8 फरवरी शनिवार को बंद रहेगा।
गत वर्षों की तरह आगंतुकों को सीधे प्रवेश मिलेगा, लेकिन इस बार ऑनलाइन बुकिंग सुविधा के जरिए वे पहले भी यहां आने की योजना बना सकते हैं। ऑनलाइन बुकिंग https://rashtrapatisachivalaya.gov.in पर एक्सप्लोर एंड टूर लिंक पर जाकर की जा सकती है। ऑनलाइन बुकिंग लिंक https://rb.nic.in/rbvisit/visit_plan.aspx पर भी उपलब्ध है। सीधी प्रविष्टि और ऑनलाइन बुकिंग, दोनों निशुल्क हैं। ऑनलाइन बुकिंग सुविधा सात दिन पहले अग्रिम रूप से उपलब्ध होगी। इसे सात-सात घंटे की अवधि में बांटा गया है, जिसकी शुरूआत मंगलवार से शुक्रवार तक 10 बजे से 4 बजे तक और तीन घंटे की अवधि शनिवार और रविवार को 10 बजे, 11 बजे और 12 बजे उपलब्ध होगी। अवकाश के दिनों में भी यह सुविधा जारी रहेगी। मंगलवार से शुक्रवार तक होने वाली एक बुकिंग में अधिकतम 10 आगंतुक आ सकते हैं। सप्ताहांत और अवकाश के दिनों में एक बुकिंग पर अधिकतम 5 आगंतुक आ सकते हैं। ऑनलाइन बुकिंग के लिए मोबाइल नम्बर अनिवार्य होगा और एक मोबाइल नम्बर पर केवल एक बुकिंग की अनुमति है। जो आगंतुक ऑनलाइन बुकिंग कराएंगे, उन्हें अपने साथ प्रवेश पास (पेपर प्रिंट या मोबाइल पास) और अपना पहचान पत्र लाना होगा।
सीधी प्रविष्टि और ऑनलाइन द्वारा की जाने वाली प्रविष्टि राष्ट्रपति संपदा के गेट नम्बर 35 से होगी और उसी स्थान से वापसी भी होगी। गेट नम्बर 5 नॉर्थ एवेन्यू से राष्ट्रपति भवन की तरफ जाने वाले रास्ते के नजदीक है। ऑनलाइन आगंतुकों के प्रवेश के लिए अलग व्यवस्था की गई है। उनके लिए जरूरी है कि वे अपने निर्धारित समय पर वहां पहुंचें। यदि कोई आगंतुक बुकिंग समय के बाद आता है तो उसे सीधी प्रविष्टि वाले आगंतुकों की पंक्ति में शामिल होना होगा। आगंतुकों से आग्रह है कि वे अपने साथ पानी की बोतल, ब्रीफकेस, हैंडबैग, लेडीज पर्स, कैमरा, रेडियो या ट्रांजिस्टर, बॉक्स, छाता, खाने-पीने की सामग्री इत्यादि न लाएं। यदि इन चीजों को लाया गया, तो उन्हें प्रवेश फाटक पर जमा करना होगा। पीने का पानी, शौचालय, फर्स्ट ऐड, चिकित्सा सुविधा, वरिष्ठ नागरिकों, महिलाओं और बच्चों के लिए विश्राम स्थल पूरे मार्ग में विभिन्न स्थानों पर उपलब्ध रहेंगे।