दीपावली आज, शुभ मुहूर्त में करें लक्ष्मी पूजन

57

आज पूरे देश में दीपावली हर्षोल्लास और धूमधाम से मनाई जा रही है। लंका पर विजय के बाद प्रभु श्रीराम माता सीता एवं लक्ष्मण चौदह वर्ष के वनवास के बाद जब अयोध्या लौटे तो उनके आगमन की खुशी में पूरे अयोध्या राज्य में दीप जलाकर उत्सव मनाया गया था। जिसके बाद से हर वर्ष पूरे भारतवर्ष में दीपोत्सव मनाया जाता है। इस दिन धन-धन्य, सुख-समृद्धि की कामना से माँ लक्ष्मी, प्रथम पूज्य श्रीगणेश तथा विद्यादायिनी माँ सरस्वती व देवता कुबेर का पूजन किया जाता है। माँ लक्ष्मी का पूजन करने से माँ लक्ष्मी भक्त जे घर की दरिद्रता दूर कर धन रूप में वास करती है। इसलिए दिवाली की रात सभी भक्त ये प्रयास करते हैं कि माँ लक्ष्मी का आगमन उनके घर पे हो और माँ लक्ष्मी उनके घर में सदा के लिए वास करें।
इस बार दीपावली कई शुभ संयोगों के साथ मनाई जाएगी। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार इस बार दीपावली पर चतुर्दशी एवं अमावस्या दोनों तिथि मौजूद होने से युग्म योग का भाव बन रहा है। इस बार दीपावली पर 27 अक्टूबर रविवार को सुबह चतुर्दशी और संध्या में अमावस्या तिथि रहेगी। इस दिन गुरु वृश्चिक राशि में तथा सूर्य व चंद्र तुला राशि विद्यमान होंगे। बारह वर्ष पूर्व 08 नवंबर 2007 को भी ऐसा ही योग बना था। उस समय भी शनि तथा केतु की युति थी, लेकिन ये ग्रह सिंह राशि में स्थित थे। 23 अक्टूबर 1995 को भी गुरु वृश्चिक राशि में था और तब भी चतुर्दशी युक्त अमावस्या तिथि पर दीपोत्सव का पर्व मनाया गया था। पंडित झा का कहना है कि इस दिन स्वास्थ्य वृद्धि कारक योग भी बन रहा है। इस योग में माता लक्ष्मी की पूजा-आराधना से आरोग्य सुख, भौतिक समृद्धि, मानसिक तथा आत्मिक बल की प्राप्ति होगी।

शुभ मुहूर्त-
वृश्चिक लग्न- प्रात: 7:21 बजे से 9:37 बजे तक,
अभिजीत मुहूर्त- दोपहर 11:11 बजे से दोपहर 11;56 बजे तक,
कुंभ लग्न- दोपहर 1:44 बजे से 3:15 बजे तक,
गुली काल मुहूर्त- दोपहर 2:22 बजे से 3:47 बजे तक,
प्रदोषकाल मुहूर्त- शाम 5:10 बजे से रात्रि 8:14 बजे तक,
वृष लग्न- शाम 6:21 बजे से रात्रि 08:18 बजे तक,
कर्क और सिंह लग्न- रात्रि 10:50 से 3:04 बजे तक रहेगा।
जिसमे लक्ष्मी पूजन के लिए श्रेष्ठ मुहूर्त शाम 5:10 बजे से रात्रि 8:14 बजे तक रहेगा।