मई में जीएसटी राजस्व संग्रहण में 6.67 प्रतिशत की वृद्धि

मई महीने में जीएसटी राजस्‍व संग्रह कुल मिलाकर 1,00,289 करोड़ रुपये का हुआ, जिसमें 17,811 करोड़ रुपये का सीजीएसटी, 24,462 करोड़ रुपये का एसजीएसटी, 49,891 करोड़ रुपये का आईजीएसटी (आयात पर संग्रहीत 24,875 करोड़ रुपये सहित) और 8,125 करोड़ रुपये का उपकर या सेस (आयात पर संग्रहीत 953 करोड़ रुपये सहित) शामिल हैं। अप्रैल माह के लिए 31 मई तक कुल मिलाकर 72.45 लाख जीएसटीआर 3बी रिटर्न दाखिल की गई।
सरकार ने नियमित निपटान के रूप में आईजीएसटी से सीजीएसटी में 18,098 करोड़ रुपये और एसजीएसटी में 14,438 करोड़ रुपये का निपटान किया है। मई में नियमित निपटान के बाद केन्‍द्र सरकार और राज्‍य सरकारों द्वारा अर्जि‍त कुल राजस्‍व सीजीएसटी के लिए 35,909 करोड़ रुपये और एसजीएसटी के लिए 38,900 करोड़ रुपये है।
वहीं मई 2018 में राजस्‍व 94,016 करोड़ रुपये आंका गया था और मई 2019 में राजस्‍व संग्रह पिछले वर्ष के इसी महीने में संग्रहीत राजस्‍व की तुलना में 6.67 प्रतिशत अधिक है। मई 2019 का राजस्व वित्त वर्ष 2018-19 में जीएसटी राजस्व 98,114 करोड़ रुपये के मासिक औसत की तुलना में 2.21 प्रतिशत है। फरवरी-मार्च 2019 महीनों के लिए राज्यों को जीएसटी प्रतिपूर्ति के रूप में 18,934 करोड़ रुपये जारी किए गए।