सरकारी बैंकों का होगा विलय, विलय के बाद पीएनबी बनेगा दूसरा सबसे बड़ा सरकारी बैंक

161

देश के 10 बैंकों का विलय कर 4 बैंक बनाये जाएंगे, इसकी घोषणा वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने की। उन्होंने बैंकिंग सुधारों की घोषणा करते हुए कहा कि 10 सरकारी बैंकों का विलय कर 4 बड़े सरकारी बैंक बनाये जाएंगे।
पंजाब नेशनल बैंक में ओरिएंटल बैंक और यूनाइटेड बैंक का विलय किया जायेगा, जिसके बाद ये देश दूसरा सबसे बड़ा सरकारी बैंक बन जायेगा। इसके अलावा कैनरा बैंक का विलय सिंडिकेट बैंक में, इंडियन बैंक का विलय इलाहाबाद बैंक में तथा यूनियन बैंक में आंध्रा बैंक और कॉर्पोरेशन बैंक का विलय होगा। उन्होंने कहा कि बैंक ऑफ बड़ौदा, देना बैंक और विजया बैंक के विलय के बाद किसी भी प्रकार की छटनी नहीं की गई है, एक बैंक के अच्छे कार्यों को दूसरे बैंकों में भी लागू किया गया है।
वहीं डीएफएस सेक्रेटरी राजीव कुमार ने कहा कि 5 ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था के लिए बैंकों की अहम भूमिका होगी, उसके लिए ऐसे बैंक चाहिए, जिनमें अधिक लेंडिंग कैपेसिटी हो, आधुनिक तकनीक के प्रयोग से बेहतरीन सेवाएँ प्रदान कर सकें। उन्होंने कहा कि बड़े बैंक अब अपना लक्ष्य रखेंगे, ग्लोबल मार्केट पर, मँझले बैंक बनेंगे राष्ट्रीय स्तर के और कुछ बैंक स्थानीय नेतृत्व करेंगे।