अब आमजन भी घूम सकेंगे सुप्रीम कोर्ट परिसर

208

भारतीय पर्यटन के नक्शे पर सुप्रीम कोर्ट को भी शामिल कर लिया गया है। सुप्रीम कोर्ट परिसर आम लोगों के लिए खोल दिया गया है, अब आम लोगों सुप्रीम कोर्ट का पूरा परिसर, जिसमें कोर्ट रूम, गार्डन, न्यायाधीशों की लाइब्रेरी और कॉरिडोर में भी शामिल हैं, आराम से घूम कर देख सकेंगे। सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को एक औपचारिक पोर्टल लांच कर दिया है। इस पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कर आम लोग आसानी से सुप्रीम कोर्ट में घूम सकेंगे सकेंगे, लेकिन आम लोगों के साथ एक प्रशिक्षित गाइड मौजूद रहेगा जो लोगों को वहां स्थित चीज़ों के बारे में बताएगा। सार्वजनिक अवकाश के दिनों को छोड़कर प्रत्येक शनिवार को सुप्रीम कोर्ट में घूमने के लिए लोग जा सकेंगे। सुप्रीम कोर्ट के एक घंटे के दौरे में एक बार में 20 लोग जा सकेंगे।
सीजेआई रंजन गोगोई ने गुरुवार को एक औपचारिक पोर्टल लांच किया। जिसमें रजिस्ट्रेशन करने के बाद लोग एक घंटे तक सुप्रीम कोर्ट में प्रशिक्षित गाइड के साथ घूम सकेंगे। सुप्रीम कोर्ट में वकील, मुकदमे से संबंधित लोग, प्रैक्टिस करने वाले इंटर्न, लॉ स्टूडेंट्स और पत्रकारों को ही प्रवेश मिलता है। सुप्रीम कोर्ट में घूमने के लिए लोगों को कोई फीस नहीं देनी होगी। सुप्रीम कोर्ट परिसर घूमने का समय सुबह 10 बजे से 1 बजे तक का तय किया गया है। वेबसाइट पर दौरा बुक होने के बाद मोबाइल पर एक बार कोड का मैसेज आएगा। इस मैसेज को सुप्रीम कोर्ट की रिसेप्शन डेस्क पर स्कैन कर लोगों के लिए एक अस्थायी इलेक्ट्रोनिक प्रवेश कार्ड जारी किया जाएगा। जिसे दौरे के बाद वापस जमा करा लिया जाएगा। इस दौरान लोग फोटोग्राफी नहीं कर सकेंगे।