न्यायमूर्ति श्रीमती मंजुला चेल्लूर बनी विद्युत अपीलीय ट्रिब्यूनल की नई अध्यक्ष

321

न्यायमूर्ति श्रीमती मंजुला चेल्लूर ने आज विद्युत मंत्रालय में विद्युत अपीलीय ट्रिब्यूनल की अध्यक्ष के रूप में शपथ ली। इससे पहले न्यायमूर्ति श्रीमती मंजुला चेल्लूर बॉम्बे हाई कोर्ट की मुख्य न्यायाधीश थीं। न्यायिक सदस्य न्यायमूर्ति केएन पाटिल, तकनीकी सदस्य एसडी दुबे, आईजे कपूर और बीएन तालुकदार इस अवसर पर उपस्थित थे। ट्रिब्यूनल बार एसोसिएशन के अध्यक्ष एमजी रामचंद्रन ने न्यायपीठ (बेंच) को दैनिक कामकाज में बार के सदस्यों की ओर से पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया।
श्रीमती न्यायमूर्ति मंजुला चेल्लूर का जन्म कर्नाटक में 5 दिसंबर 1955 को हुआ था। उन्‍होंने बेल्लारी स्थित अल्‍लम सुन्मंगलमा महिला कॉलेज से कला में स्नातक की डिग्री प्राप्‍त की थी। उन्‍होंने रेनुकाचार्य लॉ कॉलेज, बेंगलुरू से कानून की डिग्री प्राप्‍त की थी। वर्ष 1977 में भारत के सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें इंग्लैंड के वारविक विश्वविद्यालय में महिला-पुरुष समानता से जुड़े विषय के साथ-साथ कानून फेलोशिप के लिए प्रायोजित किया था। वर्ष 2013 में श्रीमती न्यायमूर्ति मंजुला चेल्लूर को कर्नाटक राज्य महिला विश्वविद्यालय से डॉक्टरेट की मानद उपाधि प्राप्त हुई थी। श्रीमती न्यायमूर्ति मंजुला चेल्लूर कलकत्ता उच्च न्यायालय की पहली महिला मुख्य न्यायाधीश थीं।