फेसबुक डाटा की सुरक्षा को लेकर अफवाहों का दौर, जानिए BFF क्या है

392

मीडिया में जब से फेसबुक के डाटा के लीक होने की खबर छाई हुई है, उसके बाद से हर कोई अपनी फेसबुक प्रोफाइल को लेकर चिंतित है और फेसबुक में ही डाटा लीक को लेकर अनेक तरह की अफवाहें वायरल हो रही हैं। वर्तमान में फेसबुक पर एक पोस्ट वायरल हो रही है, जिसमें कहा जा रहा है की ‘फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग ने फेसबुक में बने आपके अकाउंट को सुरक्षित रखने के लिए BFF वाला फीचर लांच किया है, यदि आप इस पोस्ट या पोस्ट के कॉमेंट में बॉक्स में BFF लिखेंगे और वह हरा हो जाएगा तो समझिए कि आपका अकाउंट सुरक्षित है, नहीं तो आपकी निजी जानकारी पर खतरा मंडरा रहा है।
इस बारे में कई गई पड़ताल पर तकनीकी जानकारों का कहना है कि BFF लिखने पर उसका ग्रीन होना फेसबुक का ही एक फीचर है। जैसा कि बधाई या शुभकामनाएं देने वाले शब्दों का रंग बदल जाता है। ये फीचर फेसबुक ने कुछ महीने पहले ही उपलब्ध करवाया था, BFF भी उसी तरह का है। सोशल मीडिया में वाक्यों को शार्ट में लिखने का प्रचलन है, यहां BFF का मतलब बेस्ट फ्रेंड फॉरएवर से है। इसे आप किसी अच्छे दोस्त के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। यह मात्र एक फीचर है और इसका आपके अकाउंट के सुरक्षित होने से कोई लेना-देना नहीं है। अगर आप अपने फेसबुक प्रोफाइल को सुरक्षित रखना चाहते हैं, तो अपनी प्रोफाइल की सेटिंग्स में जाकर में टू फैक्टर ऑथेंटिकेशन को इनेबल करें। इस सेटिंग को इनेबल करने पर अगर कोई आपका पासवर्ड पता भी कर ले, तो भी आपका प्रोफाइल एक्सेस नहीं कर पाएगा। इसके अलावा अपने फेसबुक अकाउंट पर जाकर लोकेशन सेटिंग और फेस रिकॉग्निशन को ऑफ कर दें। इसके साथ ही अपने प्रोफाइल की निजी जानकारियों को लॉक कर दें, जैसे ओनली मी या फ्रेंड्स ओनली आदि।