भारतीय मूल की अमिका को सामाजिक क्षेत्र का ऑस्कर सम्मान

229

ब्रिटेन में रह रही भारतवंशी 18 वर्षीय अमिका जॉर्ज को सामाजिक क्षेत्र का ऑस्कर माने जाने वाले गोलकीपर्स ग्लोबल गोल्स अवॉर्ड में से एक से सम्मानित किया गया है। जिसे सामाजिक प्रगति के लिए ऑस्कर अवार्ड के नाम से भी जाना जाता है। अमिका ने 2017 में ब्रिटेन में फ्रीपीरियड्स कैंपेन चलाया था।
अमिका ने फ्री पीरियड कैंपेन के जरिए स्कूल जाने वाली गरीब लड़कियों को मुफ्त में सैनिटरी उत्पाद देने की मांग की थी। दो अन्य लड़कियों को भी गोलकीपर्स ग्लोबल गोल्स अवॉर्ड से सम्मानित किया गया है। जिनमें इराक की नादिया मुराद को चेंजमेकर पुरस्कार से नवाजा गया तथा केन्या की दिस्मस किसिलु को प्रोग्रेस अवॉर्ड दिया गया है। इस अवॉर्ड को बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन ने 2017 में शुरू किया था। इसका उद्देश्य संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास के लक्ष्य को गति प्रदान करना था। अभियान के बाद ब्रिटेन सरकार ने 14 करोड़ दिए
ब्रिटेन सरकार ने अमिका के अभियान से प्रभावित होकर गरीब बच्चियों को सैनिटरी पैड्स देने के लिए 14.29 करोड़ रुपए देने का ऐलान किया था। अमिका जॉर्ज केरल मूल की हैं। बहुत समय पहले उनके दादा भारत से जाकर ब्रिटेन में बस गए थे।