किसी को सजदा- निशांत खुरपाल

121

किसी को सजदा, तो किसी को सलाम करता है
ऐ-मौला तेरा बंदा तो कमाल करता है

ज़ुबां पर रखता है वफ़ादारी की बात,
और पीठ पीछे, यार को ही बदनाम करता है

खुद किसी के साथ करें तो ठीक,
इसके साथ कोई करे दगा, तो बवाल करता है

खाता है जिस घर और थाली से निवाला,
ये आदम ज़ात, नमक खाकर भी हराम करता है

ये रिश्तो को नहीं, मौकापरस्ती को मानता है ऐ-मौला,
अपने फायदे के लिए, अपनों को ही हलाल करता है

-निशांत खुरपाल ‘काबिल’
अध्यापक,
कैंब्रिज इंटरनेशनल स्कूल,
पठानकोट
संपर्क- 7696067140
ईमेल- nishantrurka97@gmail.com