हिन्दी महान: सोनल ओमर

44

हिंदी है हमारी शान,
हिंदी से हमारा मान,
जन जन की है हिंदी,
हिन्द की पहचान।।

स्वभाषा पर दो ध्यान,
हिंदी है भाषा महान,
लेखक हिंदी में लिख,
बने जग की शान।।

है पढ़े-लिखे की आन,
अनपढों को भी भान,
ये हिंदी भाषा सबको,
देती सामान्य ज्ञान।।

करो हिंदी का व्याख्यान,
गाओ साथ हिंदी गान,
भारत की मातृभाषा,
करो सब सम्मान।।

हिंदी पर है अभिमान,
अभिव्यक्ति की है जान,
चाहत है हिंदी गीत,
गाए हर ज़ुबान।।

सोनल ओमर
कानपुर, उत्तर प्रदेश