प्रधानमंत्री ने किया सिक्किम के पहले हवाई अड्डे का उद्घाटन

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज सोमवार को सिक्किम के पाक्योंग में स्थित बने नवनिर्मित एय़रपोर्ट का उद्घाटन किया। इस अवसर पर उनके साथ राज्य के मुख्यमंत्री पवन चामलिंग और केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु भी उपस्थित रहे। यह राज्य का पहला एयरपोर्ट है। पाक्योंग भारत-चीन सीमा से 60 किमी दूरी पर स्थित है, इसलिए इसे विदेशी रणनीतिक दृष्टि से भी काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। साल 2009 में इस ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे की आधारशिला रखी गई थी। यह हवाई अड्डा समुद्र तल से 4,500 फुट की ऊंचाई पर बसे पाकयोंग गांव के करीब 2 किलोमीटर ऊपर एक पहाड़ी की चोटी पर बनाया गया है। यह गंगटोक से करीब 30 किलोमीटर दूर स्थित यह राज्य का पहला हवाई अड्डा है। 400 हेक्टेयर क्षेत्र में फैला यह हवाई अड्डा 2017 में बना था। इसके ट्रायल का काम समाप्त हो चुका है। उम्मीद है कि अक्टूबर के दूसरे सप्ताह से यहां विमानों का व्यावसायिक संचालन शुरू हो जाएगा। सिक्किम पर्यटकों की सबसे पसंदीदा जगहों में से एक है और इस हवाई अड्डे के शुरू हो जाने से सिक्किम में पर्यटन उद्योग बढ़ेगा। अभी तक विमान सेवा न होने से लोगों को यहां आने में काफी दिक्कत होती थी। फ्लाइट से सिक्किम आने वालों को पश्चिम बंगाल के बागडोगरा हवाई अड्डे पर उतरना होता था, जो यहां से करीब 128 किलोमीटर दूर है।
हवाई अड्डे के उद्घाटन के बाद सिक्किम की जनता को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज का यह दिन सिक्किम के लिए तो ऐतिहासिक है ही, देश के लिए भी काफी महत्वपूर्ण है। पेक्योंग हवाई अड्डे के खुलते ही देश में हवाई अड्डों का शतक लग गया है। अपने पहले और देश के सौवें हवाई अड्डे से जुड़ने पर आप सभी को बहुत-बहुत बधाई। उन्होंने कहा कि यह हवाई अड्डा आप लोगों के जीवन को और आसान करने में बहुत बड़ी भूमिका निभाने वाला है। सरकार ने यह भी कोशिश की है यहां से आना जाना सामान्य व्यक्ति की पहुंच में भी रहे। इसलिए इस एयरपोर्ट को उड़ान योजना से जोड़ा गया है। उन्होंने कहा कि सिक्किम और उत्तर पूर्वी राज्यों में इंफ्रास्ट्रक्चर और इमोशनल, दोनों तरह की कनेक्टिविटी को विस्तार देने का काम तेजी से चल रहा है। उन्होंने कहा कि उत्तर पूर्व के राज्यों चाहे सिक्किम हो, अरुणाचल प्रदेश हो, मेघालय हो, मणिपुर हो, नगालैंड हो, असम हो या फिर त्रिपुरा। यहां कई काम पहली बार हो रहे हैं। जैसे हवाई जहाज पहली बार पहुंचे हैं, रेल कनेक्टिविटी पहली बार पहुंची है, कई जगह बिजली पहली बार पहुंची है, चौड़े नेशनल हाईवे बन रहे हैं, गांव की सड़कें बन रही हैं, नदियों पर बड़े-बड़े पुल बन रहे हैं और डिजिटल इंडिया का विस्तार हो रहा है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज हमारे 100 हवाई अड्डे चालू हो गए हैं, इसमें से 35 एयरपोर्ट बीते 4 वर्षों में जुड़े हैं। आजादी के बाद से साल 2014 तक यानि 67 साल के बाद भी देश में 65 हवाई अड्डे थे। यानि 1 वर्ष में औसतन 1 हवाई अड्डा बनाया गया, बीते 4 वर्षों में औसतन 1 साल में 9 हवाई अड्डे तैयार हुए हैं। पीएम ने कहा कि 70 सालों में 400 विमान और पिछले एक साल में विमानन कंपनियों ने 1000 नए विमानों का आर्डर दिया है, यह मेरे उस सपने को सच करेगा जिसमें हवाई चप्पल पहनने वाला सामान्य इंसान हवाई यात्रा कर सकेगा। सरकार ने ट्रांसपोर्ट और टूरिज्म को ट्रांसफॉर्मेशन का साधन बनाया है।