एशिया जूनियर बैडमिंटन चैंपियनशिप में लक्ष्य ने गोल्ड मेडल जीतकर रचा इतिहास

307

भारत के लक्ष्य सेन ने एशिया जूनियर बैडमिंटन चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रच दिया। भारत के बैडमिंटन खिलाड़ी लक्ष्य सेन ने आज पुरुष एकल वर्ग के फाइनल में थाईलैंड के खिलाड़ी कुनलावुत वितिदसार्न को 46 मिनटों के भीतर सीधे गेमों में 21-19, 21-18 से हर दिया।
फाइनल मुकाबला मुकाबले मर दोनों खिलाड़ियों के बीच कांटे की टक्कर रही, लेकिन आखिर में भारतीय शटलर ने थाईलैंड के कुनलावुत वितिदसार्न पर बढ़त बना ली अंत समय तक लक्ष्य सेन ने बढ़त बनाकर दबाव कायम रखा और गेम अपने नाम कर लिया।
लक्ष्य एशिया जूनियर चैम्पियनशिप में स्वर्ण जीतने वाले तीसरे भारतीय बन गए हैं। लक्ष्य से पहले इस चैम्पियनशिप में 1965 में गौतम ठक्कर और 2012 में पीवी सिंधु ने सोना जीता था। गोल्ड जीतने पर भारतीय बैडमिंटन संघ (बीएआई) ने शटलर लक्ष्य सेन को 10 लाख रुपये की नकद इनामी राशि देने की घोषणा की है।