अंतरिक्ष में सुधारा अंतरिक्ष यान

247

इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन (आईएसएस) के एक अंतरिक्ष यान सोयुज एमएस-09 में तकनीकी खराबी आने से इसमें से रिसाव होने लगा था, इसके बाद इसमें एक बड़ा छेद हो गया। जिसके सुधार के लिए रूस के दो अंतरिक्ष यात्री ओलेग कोनोशेंको और सर्गेई प्रोकोप्येव मंगलवार की सुबह करीब 11 बजे स्पेस स्टेशन से बाहर निकले और अंतरिक्ष में कदम रखते हुए, कभी गेंद की तरह उछलते हुए अंतरिक्ष यान के छेद तक पहुंचे तथा सुधार कार्य किया।
स्पेस स्टेशन से बाहर आने की प्रक्रिया को स्पेसकॉक कहा जाता है। स्पेसवॉक के लिए पहले पूरी रणनीति तैयार की जाती है। धरती पर बैठे नासा के वैज्ञानिक पूरी स्पेसवॉक पर पूरी तरह से नजर रखते हैं और एस्ट्रोनॉट को निर्देश देते रहते हैं। नासा ने मंगलवार को हुए स्पेसवॉक का लाइव टेलीकास्ट भी किया, जिसे लाखों लोगों ने देखा। नासा ने अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर इस स्पेसवॉक के वीडियो तथा फोटो भी शेयर किए हैं। रशियन फेडरल स्पेस एजेंसी रॉसकॉसमॉस (Roscosmos) के मुताबिक, यह स्पेसवॉक 7 घंटे, 45 मिनट तक चली। स्पेसवॉक सुबह 10:59 बजे शुरू हुई थी और शाम 6:44 बजे खत्म हुई।