गंगा के लिए तप कर रहे स्वामी साणंद का निधन

188

गंगा रक्षा और स्वच्छता के लिए प्रभावी कानून बनाने के लिए 113 दिनों से अनशन कर रहे स्वामी ज्ञानस्वरूप सानंद का आज निधन हो गया, वे 86 वर्ष के थे। उनका ऋषिकेश स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में उपचार चल रहा था। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मंगलवार को उन्हें हरिद्वार स्थित मातृसदन से लाकर एम्स मे भर्ती कराया गया था। डाक्टरों के अनुसार उनके शरीर में पोटेशियम और ग्लूकोज निचले स्तर पर आ गया था, इसकी वजह से दोपहर में उन्हें हार्ट अटैक आया था, जिससे उनकी मृत्यु हो गई।
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कानपुर से सेवानिवृत प्रोफेसर गुरुदास अग्रवाल, स्वामी ज्ञानस्वरूप सानंद मूल रूप से उत्तर प्रदेश के कांधला मुजफ्फरनगर के रहने वाले थे। 22 जून,2018 को उन्होंने गंगा की रक्षा के लिए सख्त कानून बनाने और जल विद्युत परियोजनाओं के विरोध समेत विभिन्न मांगों को लेकर मातृसदन में अनशन शुरू किया था, इसे उन्होंने तप नाम दिया था। इस दौरान वे केवल नींबू, शहद, नमक और पानी ले रहे थे।