रांची में 30 हजार लोगों के साथ प्रधानमंत्री मोदी ने किया योग

115

पाँचवें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रांची के प्रभात तारा मैदान में उपस्थित 30 हजार लोगों के साथ योग किया।
इस अवसर पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज ये प्रभात तारा मैदान विश्व के नक्शे पर जरूर चमक रहा है, देश और दुनिया के अनेक हिस्सों में लाखों लोग योगदिवस मनाने के लिए अलग-अलग जगह पर जमा है।
उन्होंने कहा कि अब मुझे आधुनिक योग की यात्रा शहरों से गांवों की तरफ ले जानी है, गरीब और आदिवासी के घर तक ले जानी है, मुझे योग को गरीब और आदिवासी के जीवन का भी अभिन्न हिस्सा बनाना है। शांति और सद्भाव हमेशा योग से जुड़े रहे हैं, योग एकता को आगे बढ़ा सकता है और विश्व की कई चुनौतियों का सामना कर सकता है।
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज हमारे योग को दुनिया अपना रही है तो हमें योग से जुड़ी रीसर्च पर भी जोर देना होगा, इसके लिए जरूरी है कि हम योग को किसी दायरे को बांध कर ना रखें, योग को मेडिकल, फिजियोथेरेपी, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस इनसे भी जोड़ना होगा। हम सभी योग के महत्व को अच्छी तरह से जानते हैं। यह हमेशा से ही हमारी संस्कृति का एक महत्वपूर्ण हिस्सा रहा है। लेकिन अब हम सभी को योग के अभ्यास को दूसरे स्तर पर ले जाना होगा। आज के बदलते हुए समय में, बीमारियों से बचाव के साथ-साथ स्वस्थ्यता पर हमारा फोकस होना जरूरी है। यही शक्ति हमें योग से मिलती है, यही भावना योग की है, पुरातन भारतीय दर्शन की है।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शुभकामनाएं दीं हैं, उन्होंने ट्वीट कर कहा कि अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर विश्व भर में योगाभ्यास करने वाले सभी लोगों को मेरी शुभकामनाएं। योग सम्पूर्ण मानवता को भारत की ओर से उपहार है; यह स्वस्थ जीवन तथा मन और शरीर के बीच के सही संतुलन की कुंजी है। आइए योग के उत्सव का हिस्सा बनें।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर भारत के सभी स्थानों पर योग को लेकर लोगों में उत्साह देखा रहा। राष्ट्रपति भवन, संसद, प्रदेशों की राजधानी, सभी राज्यों की राजधानी सहित सभी सरकारी और गैर सरकारी संस्थानों में सुबह योग किया गया। देश की सीमाओं में मुस्तैदी से तैनात भारतीय सेना के सैनिकों ने भी योग किया।