सौभाग्‍य योजना के अंतर्गत 15 राज्‍यों के शत-प्रतिशत घरों में विद्य‍ुतीकरण

217

सौभाग्‍य योजना के अंतर्गत अब तक 2.1 करोड़ विद्युत कनेक्‍शन जारी किये जा चुके हैं और देश मे अब तक 15 राज्यों में शत-प्रतिशत विद्युतीकरण हो चुका है।
केन्‍द्रीय विद्युत तथा नवीकरणीय ऊर्जा राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) आरके सिंह ने कहा है कि 8 राज्‍यों– मध्‍य प्रदेश, त्रिपुरा, बिहार, जम्‍मू और कश्‍मीर, मिजोरम, सिक्किम, तेलंगाना तथा पश्चिम बंगाल ने शत-प्रतिशत घरों के विद्युतीकरण का लक्ष्‍य प्राप्‍त कर लिया है। अब देश के कुल 15 राज्‍यों में शत-प्रतिशत घरों का विद्युतीकरण हो गया है।
आज नई दिल्ली में आर के सिंह ने राज्‍यों तथा राज्यों की विद्युत कंपनियों के साथ समीक्षा, नियोजन और निगरानी के संबंध में बैठक के बाद संवाददाताओं से बात करते हुए ये जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सौभाग्‍य– प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना सितम्‍बर 2017 मे लांच की गई थी। इसका उद्देश्‍य देश में शेष बचे घरों तक बिजली पहुंचाना है।
उन्‍होंने कहा कि महाराष्‍ट्र, उत्‍तराखंड, हिमाचल प्रदेश, अरूणाचल प्रदेश और छत्‍तीसगढ़ जैसे राज्‍यों में विद्युतीकरण से वंचित घर कम संख्‍या में बचे हैं और आशा है कि सभी घरों का विद्युतीकरण हो जायेगा। उन्‍होंने बताया कि विद्युतीकरण की वर्तमान गति के मुताबिक देश के सभी 100 प्रतिशत घरों के विद्युतीकरण का लक्ष्‍य 31 दिसम्‍बर 2018 तक पूरा हो जायेगा। उन्‍होंने कहा कि देश में 100 प्रतिशत घरों के विद्युतीकरण से सभी के लिए 24×7 बिजली देने का रिकॉर्ड कायम होगा।सरकार 31 मार्च, 2019 तक सभी के लिए 24×7 बिजली पहुंच सुनिश्चित करने के लिए संकल्‍पबद्ध है। शत-प्रतिशत घरों के विद्युतीकरण वाले राज्‍यों में कोई घर वंचित न रह जाए यह सुनिश्चित करने के लिए राज्‍यों से अनुरोध किया गया है कि वे इस बारे में सभी क्षेत्रों में प्रचार अभियान चलायें ताकि किसी वंचित हुए घर को सौभाग्‍य योजना के अंतर्गत विद्युत लाभ मिल सके।