Home साहित्य

साहित्य

मेरे प्रियतम: अरविंद शर्मा अजनबी

मुरझाते उपवन को प्रियतम,रसवती कर जाओकोमल कंज खिलूँ बन जिसमें,तुम पुष्कर बन जाओ नैन थके हैं राह निहारतरिक्त प्रेम का है प्यालाविरह अग्नि में तपते मन की,शान्त न...

हिंदी राष्ट्र धरोहर: सोनल ओमर

हिंदी है हमारी मातृभाषाहिन्द की राष्ट्रभाषा भी बननी चाहिए।हिंदी है राष्ट्र की धरोहरधरोहर आगे बढ़नी चाहिए।। रंगा...

लेखक की पीड़ा: अरविंद अजनबी

पहचान बड़ी मुश्किल उनकी,जिनकी यह चाह रही हैफ़ेसबुक पर चोरी करना,जिनका बस काम यही है। रात-रात भर पता करें,ये जगते रोज...

हिंदी का उद्धार करूँगी: सोनल ओमर

बाधाएँ कितनी भी आएँ, सबको ही मैं पार करूँगी।हिंदी में ही कार्य करूँगी, हिंदी का उद्धार करूँगी।। हिंदी बन...

श्री गणेश प्रथम पूज्य: सोनल ओमर

हमारे ईष्ट श्री गणेश प्रथम पूज्य आप हैंदूर करते सभी विघ्न, क्लेश, सन्ताप हैं एकदंत, सुंदर कानन,...

इश्क़ का दर्द: रकमिश सुल्तानपुरी

वक़्त लगता पुरानी सदी की तरहआदमी न रहा आदमी की तरह हाव से, भाव से, बात व्यवहार...

आर्यपुत्रों का अखंड भारत: प्रार्थना राय

अनुचित ज्ञान कोविज्ञापित करने वालेस्वयं को ईश्वर बतलाने वालेक्षमा करना अंग्रेजी बोलने वालेतुम्हारे हर प्रश्न का उत्तरहम हिन्दी में देने वाले

कान्हा जन्मोत्सव: सोनल ओमर

कान्हा ने जनम लियोजगत का कल्याण भयो देवकी से जन्मे भादों में कृष्ण कन्हाईबचपन से यशोदा की...

मैं नहीं जानता: प्रार्थना राय

कितना सरल है नासब कुछ कर धर कर कह देनामैं नहीं जानता तुमने ये बातउस समय कही...

जाने कहां से आ गया: पूनम शर्मा

कोरोना देखो देश में जाने कहां से आ गयाविश्व की तबाही में यह भूमिका निभा गयाकहते सभी यहां कि बच कैसे...

Trending

ज्योतिष

साहित्य

This function has been disabled for लोक राग.