Friday, March 1, 2024
Homeआस्थावार्षिक राशिफल 2024मिथुन राशि का वर्ष 2024 का वार्षिक राशिफल

मिथुन राशि का वर्ष 2024 का वार्षिक राशिफल

ज्योतिषाचार्य पं अनिल कुमार पाण्डेय
प्रश्न कुंडली एवं वास्तु शास्त्र विशेषज्ञ
साकेत धाम कॉलोनी, मकरोनिया
सागर,  मध्य प्रदेश- 470004
व्हाट्सएप- 8959594400

मिथुन राशि राशि चक्र की तीसरी राशि है। मिथुन का अर्थ होता है जोड़ा अर्थात स्त्री पुरुष का जोड़ा। अंग्रेजी में इसे जैमिनी (Gemini) कहते हैं। इसका विस्तार 60 अंश से 90 अंश तक है। मृगशिरा नक्षत्र के अंतिम दो चरण, आद्रा नक्षत्र के चारों चरण तथा पुनर्वसु नक्षत्र के पहले तीन चरण मिलकर मिथुन राशि का निर्माण करते हैं।

इस राशि का स्वामी बुध है। इस राशि में राहु उच्च का और केतु नीच का होता है। इसका स्वभाव द्विस्वभाव है। मिथुन राशि की प्रवृत्ति क्रूर है। इस राशि का तत्व वायु है, गुण सात्विक है, जाति शूद्र है। यह रात्रि में बलि होती है। पश्चिम दिशा की स्वामी है। यह राशि त्रिधातु प्रकृति की है। शरीर में कंधा, छाती और फेफड़े पर होने वाले सभी क्रियाओं का असर इसी राशि से देखा जाता है। यह एक शुष्क राशि है। इस राशि का रंग हरा है।

इस राशि के लोग विद्या की आकांक्षा रखने वाले तथा शिल्प कला में प्रवीण होते हैं। इस राशि वालों के लिए सूर्य बाधक ग्रह होता है। सिंह राशि बाधक राशि होती है और बुध तथा शुक्र इनके लिए शुभ ग्रह होते हैं।

धन उपार्जन
इस वर्ष आपके पास माह मई के प्रारंभ से धन आने का अच्छा योग रहेगा। 9 अक्टूबर 2024 के बाद धन आने की मात्रा में कमी आएगी। इसके अलावा अप्रैल, जुलाई और अगस्त के महीने में भी धन आएगा। धन आने का योग पूरे वर्ष भर है। अगर आप गलत रास्ते से धन प्राप्ति का प्रयास करेंगे तो धन की मात्रा इस पूरे वर्ष आपके पास भरपूर रह सकती है। उपाय- धन प्राप्ति के लिए इस वर्ष आपको गुरुवार का व्रत करना चाहिए तथा गुरुवार को ही किसी रामचंद्र जी के रामचंद्र जी या भगवान कृष्ण के मंदिर में जाकर पूजा अर्चना करना चाहिए तथा पूरे वर्ष राम रक्षा स्त्रोत का जाप करना चाहिए।

भाग्य
करीब-करीब पूरे वर्ष आपके भाग्य से मदद मिलेगी। 30 जून से लेकर 16 नवंबर के बीच में भाग्य के मदद में कमी आएगी, परंतु इस अवधि में भी अगस्त के महीने में आपको भाग्य से मदद थोड़ी ज्यादा मिलेगी। इस अवधि अर्थात जुलाई से लेकर नवंबर के बीच में आपके सारे कार्य परिश्रम के कारण ही हो पाएंगे। आपको अपने परिश्रम पर विश्वास करना होगा। इस प्रकार भाग्य के सहारे के स्थान पर आपको परिश्रम का सहारा ज्यादा लेना चाहिए। उपाय- हर शनिवार को दक्षिण मुखी हनुमान जी के मंदिर में जाकर कम से कम 3 बार हनुमान चालीसा का जाप करें।

करियर
करियर के लिए इस वर्ष मार्च, अप्रैल, जून, जुलाई, सितंबर और अक्टूबर के महीने ठीक-ठाक रहेंगे। सामान्य रूप से आपका करियर पूरे वर्ष ठीक रहेगा। अपने अधिकारियों से वाद विवाद होने की संभावना लगातार साल भर बनी रहेगी। अगर आप प्रयास कर रहे हैं तो मार्च और अप्रैल में आपका नया करियर प्रारंभ हो सकता है। अगर आप प्रमोशन की लाइन में हैं तो मार्च और अप्रैल में आपका प्रमोशन भी हो सकता है। उपाय- आपको चाहिए कि आप पूरे वर्ष लगातार काले कुत्ते को रोटी खिलाएं।

परिवार
आपके माता जी का स्वास्थ्य सामान्यतः ठीक रहेगा, उनका स्वास्थ्य अगस्त और सितंबर के महीने में खराब हो सकता है। पिताजी का स्वास्थ्य सामान्य खराब रहेगा, परंतु अगस्त और सितंबर के महीने में कुछ-कुछ ठीक हो जाएगा। आपके पिताजी का स्वास्थ्य मार्च, अप्रैल और मई के महीने में भी ठीक रहेगा। भाई बहनों के साथ आपका संबंध अप्रैल से सितंबर तक बहुत अच्छा रहेगा। अक्टूबर में आपका अपने भाई और बहनों से टकराव हो सकता है। उपाय- हर बुधवार को गणेश अथर्वशीर्ष का पाठ करें।

स्वास्थ्य
आपका स्वास्थ्य सामान्यतया ठीक रहेगा। अगस्त से अक्टूबर के बीच में आपका स्वास्थ्य थोड़ा खराब हो सकता है। आपके जीवनसाथी का स्वास्थ्य भी समान्यतया ठीक रहेगा। पेट के रोगियों के लिए 9 अक्टूबर के बाद थोड़ी परेशानी आएगी। ब्लड प्रेशर के रोगियों को अक्टूबर नवंबर और दिसंबर के महीने में परेशानी हो सकती है। हृदय के रोगियों को पूरे वर्ष सतर्क रहना चाहिए। उपाय- अपनी पुरानी बनियान को किसी कोढ़ी को पहनाएं।

व्यापार
आपके व्यापार में समय-समय पर वृद्धि और समय-समय पर खराबी आती रहेगी। जनवरी से अप्रैल के बीच में आपका व्यापार ठीक रहेगा। अप्रैल के बाद खर्चों में वृद्धि होगी। जून, जुलाई तथा दिसंबर के महीने में व्यापार में प्रगति होगी। नवंबर के महीने में व्यापार में घाटा लग सकता है। उपाय- आपको किसी विद्वान ब्राह्मण से अपनी कुंडली को दिखाकर मूंगा, मोती या पुखराज पहनना चाहिए।

विवाह
मिथुन राशि के अविवाहित जातकों के विवाह के संबंध में जनवरी से लेकर अप्रैल तक का समय उत्तम है। इस समय विवाह तय होने की उम्मीद ज्यादा रहेगी। इसके अलावा जून तथा नवंबर के महीने में भी विवाह की उत्तम प्रस्ताव आएंगे। इस समय इन जातकों के लिए बहुत सारे वैवाहिक संबंध आएंगे और उन पर विचार होगा। अगर दशा और अंतर्दशा अनुकूल है तो विवाह तय हो जाएगा। उपाय- ब्राह्मणों को पीले वस्त्र का दान दें और किसी विद्वान ब्राह्मण को अपनी कुंडली दिखाकर पुखराज की अंगूठी को धारण करें।

मकान-कार
मकान, कार और सुख सुविधा की सामग्री जैसे एयर कंडीशनर आदि सितंबर और अक्टूबर में खरीदने का संयोग बन रहा है। अगर आप इसकी प्लानिंग कर रहे हैं तो इस समय यह योजना आवश्यक रूप से पूर्ण हो जाएगी। उपाय- हर बुधवार को आपको गाय को हरा चारा खिलाना चाहिए।

वार्षिक उपाय
इस वर्ष सभी संकटों से मुक्ति के लिए आपको हर सोमवती अमावस्या तथा हर महीने की पहली अमावस्या को भगवान शिव का रुद्राभिषेक और गणेश अथर्वशीर्ष का पाठ किसी विद्वान और योग्य ब्राह्मण से करवाना चाहिए।

टॉप न्यूज