Monday, February 26, 2024
Homeआस्थावार्षिक राशिफल 2024धनु राशि का वर्ष 2024 का वार्षिक राशिफल

धनु राशि का वर्ष 2024 का वार्षिक राशिफल

ज्योतिषाचार्य पं अनिल कुमार पाण्डेय
प्रश्न कुंडली एवं वास्तु शास्त्र विशेषज्ञ
साकेत धाम कॉलोनी, मकरोनिया
सागर,  मध्य प्रदेश- 470004
व्हाट्सएप- 8959594400

धनु राशि राशि चक्र की नवीं राशि है। धनु का अर्थ धनुष। खगोल मंडल में देखने पर यह राशि धनुष के आकार की दिखती है। अंग्रेजी में इसे (Sagittarius) कहते हैं। इसका विस्तार 240 से 270 तक है। मूल नक्षत्र के चारों चरण, पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र के चारों चरण तथा उत्तराषाढ़ा नक्षत्र का प्रथम चरण मिलकर धनु राशि का निर्माण करते हैं।

इस राशि का स्वामी गुरु है। इस राशि की आकृति ऊपरी भाग धनुष लिए मनुष्य एवं निचला हिस्सा घोड़े के समान होता है। इसका स्वभाव स्थिर है। धनु राशि की प्रकृति क्रूर है। इस राशि का तत्व अग्नि है, गुण सात्विक है जाति क्षत्रिय है। यह रात्रि में बली होता है। यह पूर्व दिशा की स्वामी है। यह राशि पित्त प्रकृति की है। शरीर में जांघ और कमर पर होने वाले सभी क्रियाओं का असर इसी राशि से देखा झ है। यह एक शुष्क राशि है।

इस राशि के जातक दयालु, परोपकारी, ईश्वर भक्त, अधिकार प्रिय एवं मर्यादित होते हैं। ये शूरवीर, सत्य बुद्धि से युक्त, सात्विक, आनंद प्रदान करने वाले, शिल्प विज्ञान से संपन्न, धन से युक्त, सुंदर स्त्री वाले, चरित्रवान, सुंदर शब्दों को बोलने वाले तेजस्वी तथा मोटे शरीर वाले होते हैं। इस राशि वालों के लिए शनि बाधक ग्रह होता है। कुंभ राशि बाधक राशि होती है और सूर्य इनके लिए शुभ ग्रह होते हैं।

धनु राशि के जातकों के लिए यह वर्ष मिश्रित फलदाई है। कुछ क्षेत्रों में बहुत अच्छे परिणाम मिलेंगे, कुछ में सामान्य और कुछ में खराब।

धन उपार्जन
इस वर्ष आपके पास धन आने की मात्रा में कमी आएगी। जनवरी से अप्रैल तक कुछ मात्रा में धन आएगा। अप्रैल के बाद थान आने की मात्रा में काफी कमी हो जाएगी। अगर आप विशेष प्रयास करेंगे तो सितंबर और अक्टूबर के माह में धन आने की मात्रा में काफी वृद्धि हो सकती है। उपाय- आपको चाहिए कि आप शुक्रवार को किसी मंदिर में जाकर गरीबों को चावल का दान दें।

कैरियर
करियर की दृष्टि से भी 2024 का वर्ष आपके लिए अत्यंत सामान्य है। अप्रैल माह के बाद आपका स्थानांतरण भी हो सकता है। सितंबर और अक्टूबर के महीने में आपके नौकरी के कार्य में उन्नति हो सकती है। संभवत इसी समय आपका स्थानांतरण भी हो सकता है। अच्छी या बुरी पोस्टिंग आपके दशा और अंतर्दशा पर निर्भर करती है। करियर के दृष्टि से इस साल आपको सावधान रहना चाहिए विशेष कर अगस्त और सितंबर के महीने में। उपाय- पूरे वर्ष पर आपको काले कुत्ते को रोटी खिलाना चाहिए।

भाग्य
जनवरी से अप्रैल तक भाग्य आपका साथ दे सकता है, इसके अलावा अगस्त और सितंबर के महीने में भी भाग्य आपका साथ देगा। वर्ष के बाकी दिनों में आपको अपने कार्यों के लिए काफी परिश्रम एवं संघर्ष करना पड़ेगा जिसके लिए आपको तैयार रहना चाहिए। आपको अपने किए गए परिश्रम के अनुपात में ही फल की प्राप्ति होगी। उपाय- आपको हर शनिवार दक्षिण मुखी हनुमान जी के मंदिर में जाकर कम से कम पांच बार हनुमान चालीसा का जाप करना चाहिए। यह कार्य आपके पूरे वर्ष करना है।

परिवार
इस वर्ष आपके माता जी का स्वास्थ्य खराब रह सकता है, पिताजी का स्वास्थ्य समानता ठीक रहेगा। भाई बहनों से आपके संबंध अच्छे रहेंगे। बहनें आपकी मदद भी करेंगी। जून के महीने में आपको अपने संतान का सहयोग प्राप्त हो सकता है, आपकी संतान इस पूरे वर्ष परेशानी में रह सकती है। उपाय- आपको प्रति शनिवार शनि मंदिर में जाकर शनि देव का पूजन अर्चन करना चाहिए।

स्वास्थ्य
आपका स्वास्थ्य सामान्यतया ठीक रहेगा। अप्रैल महीने के बाद आपके पेट के अंदर के किसी अंग में पीड़ा हो सकती है। इससे आपको सावधान रहना चाहिए। 16 दिसंबर के बाद आपका स्वास्थ्य काफी ठीक रहेगा। इसके अलावा जून और जुलाई के महीने में भी स्वास्थ्य ठीक रहना चाहिए। आपके जीवन साथी का स्वास्थ्य उत्तम रहेगा। उपाय- इस वर्ष आपको प्रतिदिन राम रक्षा स्त्रोत का जाप करना चाहिए।

व्यापार
इस वर्ष आपका व्यापार जून और जुलाई के महीने में उत्तम रहेगा। जनवरी से अप्रैल के महीने में व्यापार में सामान्य गति ही रहेगी। जुलाई के बाद व्यापार में गिरावट आ सकती है। व्यापार में तरक्की तभी होगी जब आप पूरी तरह से उसमें ध्यान दें और कार्य करें। उपाय- विष्णुसहस्त्र नाम का प्रतिदिन पाठ करें।

विवाह
इस वर्ष जून और जुलाई के महीने में अविवाहित जातकों के विवाह के उत्तम प्रस्ताव प्राप्त होंगे। इसके अलावा नवंबर और दिसंबर के महीने में भी कुछ प्रस्ताव मिलेंगे। अब यह आपके ऊपर है कि आप इन प्रस्ताव में उचित प्रस्ताव का चयन कर विवाह करें। अगर आपकी दशा अंतर्दशा ठीक है तो विवाह तय हो कर होने की भी उम्मीद है। उपाय- मंदिर में जाकर भिखारियों को चावल का दान दें। अपनी कुंडली किसी विद्वान ब्राह्मण को दिखाकर पन्ना धारण करें।

मकान, कार, जमीन
इस वर्ष मई, जून और जुलाई के महीने में आपके लिए मकान जमीन आज खरीदने का उत्तम संयोग बना सकता है। यह वर्ष आपके लिए खर्च वाला रहेगा। अप्रैल के बाद खर्च का सिलसिला बढ़ना प्रारंभ हो जाएगा। इस वर्ष आपके सुख में भी कमी आ सकती है। माता जी का आपके प्रति स्नेह भी कम हो सकता है। उपाय- अपने घर की बनी पहली रोटी गौ माता को खिलाएं।

वार्षिक उपाय
अपने संपूर्ण कष्टों के निवारण के लिए आपको चाहिए कि आप इस वर्ष की सभी एकादशी को व्रत रखें और सुंदरकांड का पाठ करें।

टॉप न्यूज