बड़ा खुलासा: भारत में स्टार्टअप्स और इससे जुड़े अधिकारियों की जासूसी करा रहा चीन

चीन द्वारा देश की महत्वपूर्ण शख्सियतों की जासूसी कराये जाने का खुलासा करने के बाद अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने एक और बड़ा खुलासा किया है। इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार चीन भारत के पेमेंट एप, सप्लाई चेन, डिलीवरी एप्स और इन एप्स के सीईओ-सीएफओ सहित करीब 1400 व्यक्तियों और संस्थाओं की जासूसी कर रहा है।

रिपोर्ट के अनुसार चीन की नजर भारतीय रेलवे के साथ इंटर्नशिप करने वाले एक इंजीनियरिंग छात्र से लेकर पूरे स्पेक्ट्रम को कवर करने वाली कम से कम 1400 संस्थाओं पर है। इतना ही नहीं चीन देश के स्टार्टअप्स और ई-कॉमर्स प्लेटफार्म और भारत में स्थित विदेशी निवेशक और उनके संस्थापक और मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारियों की भी निगरानी कर रहा है।

रिपोर्ट के अनुसार चीन पेमेंट एप, सप्लाई चेन, डिलीवरी एप्स, टेक स्टार्टअप्स, ट्रैफिक एप्स, वेंटर कैपिटल, शहरी यातायात, डिजिटल हेल्थकेयर, डिजिटल एजुकेशन से जुड़े स्टार्टअप्स एवं कंपनियों की जासूसी करा रहा है। साथ ही इन कंपनियों के सीईओ-सीएफओ सहित करीब 1400 व्यक्तियों और संस्थाओं की जासूसी कर रहा है।

चीन की कंपनी शेनझेन इंफोटेक और झेन्हुआ इंफोटेक ये जासूसी कर रही है। शेनझेन इंफोटेक कंपनी ये जासूसी चीन की कम्युनिस्ट पार्टी की सरकार के लिए कर रही है। इस कंपनी का काम दूसरे देशों पर नजर रखना है।