Friday, March 1, 2024
Homeमुख्य समाचारब्रह्मोस मिसाइल से लैस स्वदेशी विध्वंसक युद्धपोत इम्फाल भारतीय नौसेना में होगा...

ब्रह्मोस मिसाइल से लैस स्वदेशी विध्वंसक युद्धपोत इम्फाल भारतीय नौसेना में होगा शामिल

भारतीय नौसेना में स्वदेशी विध्वंसक युद्धपोत इम्फाल को शामिल किया जाएगा। युद्धपोत इम्फाल में लगभग 75 प्रतिशत की उच्च स्वदेशी सामग्री का उपयोग किया गया है, जिसमें एमआर एसएएम, ब्रह्मोस एसएसएम, स्वदेशी टॉरपीडो ट्यूब लॉन्चर, पनडुब्बी रोधी स्वदेशी रॉकेट लॉन्चर और 76 मिमी एसआरजीएम शामिल हैं।

मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड (MDL) में निर्माणाधीन चार प्रोजेक्ट 15बी गाइडेड मिसाइल स्टेल्थ डिस्ट्रॉयर्स में से तीसरे यार्ड 12706 (इम्फाल) के शिखा अनावरण कार्यक्रम का आयोजन 28 नवंबर 2023 को नई दिल्ली में किया जाएगा।

इसके शुभारंभ के समय अप्रैल 2019 में इस युद्धपोत को इम्‍फाल नाम दिया गया और एमडीएल द्वारा 20 अक्टूबर 2023 को इसे भारतीय नौसेना को सौंप दिया गया। अपने प्री-कमीशनिंग परीक्षणों के अंग के रूप में, इस युद्धपोत ने हाल ही में एक विस्तारित रेंज ब्रह्मोस मिसाइल का सफल प्रक्षेपण किया।

इस असाधारण उपलब्धि के पश्चात अब इस युद्धपोत के शिखा अनावरण कार्यक्रम का भी शानदार तरीके से आयोजन किया जाएगा। इस कार्यक्रम में रक्षा मंत्री, मणिपुर के मुख्यमंत्री और रक्षा मंत्रालय और मणिपुर राज्य के वरिष्ठ अधिकारीगण अपनी गरिमामयी उपस्थित दर्ज कराएंगे।

समुद्री परंपराओं और नौसैनिक रिवाजों के अनुसार, भारतीय नौसेना के युद्धपोतों और पनडुब्बियों के नाम प्रमुख शहरों, पर्वत श्रृंखलाओं, नदियों, बंदरगाहों और द्वीपों के नाम पर रखे गए हैं। भारतीय नौसेना को ऐतिहासिक शहर इम्‍फाल के नाम पर अपने नवीनतम और तकनीकी रूप से उन्नत युद्धपोत पर बेहद गर्व है।

यह भारत के उत्तर-पूर्वी क्षेत्र के किसी शहर के नाम पर रखा जाने वाला पहला उन्नत युद्धपोत भी है, जिसके लिए 16 अप्रैल 2019 को राष्ट्रपति द्वारा स्वीकृति दी गई थी। भारतीय नौसेना के युद्धपोत डिजाइन ब्यूरो (WDB) द्वारा डिजाइन और एमडीएल द्वारा निर्मित यह जहाज स्वदेशी युद्धपोत निर्माण के मामले में एक पहचान है और दुनिया में सबसे तकनीकी रूप से उन्नत युद्धपोतों में से एक है।

इम्‍फाल पहला ऐसा स्वदेशी विध्वंसक भी है जिसके निर्माण और समुद्री परीक्षणों को पूरा करने में सबसे कम समय दर्ज किया गया। यह युद्धपोत दिसंबर 2023 में भारतीय नौसेना में अधिकृत रूप से शामिल होगा।

टॉप न्यूज