मप्र विद्युत परिवार का हिन्दी महोत्सव 2022 उद्घाटित: ‘यदि हिन्दी भाषा से करते हैं प्रेम तो पढ़ें हिन्दी साहित्य’

मध्यप्रदेश विद्युत परिवार हिन्दी समिति के तत्वावधान में आयोजित तीन दिवसीय हिन्दी महोत्सव 2022 आज से प्रारंभ हो गया। महोत्सव का उद्घाटन हवाबाग महाविद्यालय की हिन्दी विभागाध्यक्ष व साहित्यकार डॉ भारती शुक्ला ने किया। इस अवसर पर मध्यप्रदेश विद्युत परिवार हिन्दी समिति के अध्यक्ष एमपी पावर मैनेजमेंट कंपनी के मुख्य महाप्रबंधक मानव संसाधन व प्रशासन राजीव गुप्ता, अतिरिक्त महाप्रबंधक अख‍िलेश अग्रवाल, समिति के संगठन सचिव आलोक श्रीवास्तव व पावर मैनेजमेंट कंपनी के जनसम्पर्क अध‍िकारी पंकज स्वामी उपस्थि‍त थे।

डॉ भारती शुक्ला ने अपने मुख्य आतिथ्य वक्तव्य में कहा कि यदि हिन्दी भाषा से प्रेम करते हैं तो लोगों को हिन्दी साहित्य की पुस्तकें स्वयं पढ़ना चाहिए और अन्य लोगों को भी इसके लिए प्रेरित करना चाहिए। उन्होंने कहा कि आम तौर पर जन सामान्य बातचीत के दौरान अनावश्यक अंग्रेजी शब्दों का प्रयोग करते हैं, जबक‍ि हिन्दी भाषा में उनसे बेहतर व सुंदर शब्द हैं। डॉ शुक्ला ने इस संदर्भ में समाज की सभी माताओं को सलाह दी कि वे हिन्दी के उपयोग के संस्कार अपने बच्चों को दें। इस अवसर पर मध्यप्रदेश विद्युत परिवार हिन्दी समिति द्वारा हिन्दी योगदान के लिए डॉ भारती शुक्ला का सम्मान किया गया।

विद्युत कंपनियों में हिन्दी के प्रयोग में हुई बढ़ोत्तरी

मध्यप्रदेश विद्युत परिवार हिन्दी समिति के अध्यक्ष राजीव गुप्ता ने कहा कि हिन्दी महोत्सव 2022 को पूर्व की तुलना में नए स्वरूप व आकर्षक ढंग से आयोजित हो रहा है। उन्होंने कहा क‍ि हिन्दी महोत्सव में विद्युत कंपनियों के नए कार्मिकों को जोड़ने का विशेष प्रयास किया गया है। श्री गुप्ता ने कहा कि विद्युत कंपनियों में हिन्दी के प्रयोग में बढ़ोत्तरी हुई है। जनसम्पर्क अध‍िकारी पंकज स्वामी ने तीन दिवसीय हिन्दी महोत्सव के बारे में विस्तृत जानकारी दी।

निबंध प्रतियोगिता में कार्मिकों ने उत्साह से लिया भाग

हिन्दी महोत्सव के प्रथम दिवस तत्कालिक हिन्दी निबंध प्रतियोगिता आयोजित हुई। इस प्रतियोगिता में पचास से अध‍िक प्रतिभागियों ने भाग लिया। प्रतिभागियों को दौ सौ शब्दों में सरकारी कार्यालय में हिन्दी के उपयोग की स्थि‍ति, हिन्दी: इस शताब्दी की चुनौती व संचार माध्यमों में हिन्दी की उपयोगिता जैसे विषयों में से किसी एक पर अपने ल‍िखि‍त विचार व्यक्त करने थे।

हर‍िशंकर परसाई की व्यंग्य रचना पर नाट्य प्रस्तुति

विवेचना रंगमंडल के कलाकारों ने संतोष राजपूत के निर्देशन में हरि‍शंकर परसाई की व्यंग्य रचना ‘भगत की गत’ पर नाट्य प्रस्तुति दी। इस नाट्य प्रस्तुति को लोगों ने खूब सराहा।

पुस्तक प्रदर्शनी बनी विशेष आकर्षण केन्द्र बिन्दु

हिन्दी महोत्सव में पहली बार आयोजित की गई पुस्तक प्रदर्शनी विद्युत कार्मिकों के मध्य आकर्षण का केन्द्र बिन्दु बनी। मनु व अजय यादव संयोजित प्रदर्शनी में हिन्दी साहित्य की श्रेष्ठ पुस्तकें प्रदर्श‍ित की गईं हैं। समारोह की शुरूआत में निरंजनपुरी गोस्वामी के निर्देशन में मनीषा झारिया, जयश्री व अंकिता सिंह ने सरस्वती वंदना प्रस्तुत की। मध्यप्रदेश विद्युत परिवार हिन्दी समिति की ओर से शश‍िकांत ओझा, खुशबू शर्मा, नीरज दुबे, नारायण बहादुर क्षत्रीय, जयश्री, वर्षा दुबे ने अत‍िथ‍ियों का स्वागत किया। कार्यक्रम का संचालन राजेश पाठक ने किया।

साहित्य केन्द्र‍ित सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता

13 सितंबर को शक्त‍िभवन के केन्द्रीय ग्रंथालय में हिन्दी महोत्सव के द्वितीय दिवस पर साहित्य केन्द्र‍ित सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता का आयोजन अपरान्ह 3.00 बजे से किया गया है। विवेचना रंगमंडल के कलाकार मुंशी प्रेमचंद की कहानी ‘बड़े भाई साहब’ की नाट्य प्रस्तुति देंगे। कार्यक्रम में मुख्य अति‍थ‍ि के रूप में डॉ स्मृति शुक्ला उपस्थि‍त रहेंगी।