MPPMCL के ग्रीष्मकालीन प्रश‍िक्षण शि‍विर के समापन समारोह में शास्त्रीय व लोक नृत्यों की मोहक प्रस्तुति

एमपी पावर मैनेजमेंट कंपनी लिमिटेड की क्रीड़ा एवं कला परिषद के तत्वावधान में आयोजित ग्रीष्मकालीन कला प्रशिक्षण शि‍विर के समापन अवसर पर तरंग प्रेक्षागृह में 90 बालिका प्रशि‍क्षणार्थि‍यों ने भारतीय शास्त्रीय और विभ‍िन्न प्रदेशों के लोक नृत्यों की आकर्षक व मोहक प्रस्तुति दी।

इस अवसर पर कार्यक्रम में मुख्य अतिथ‍ि एमपी पावर मैनेजमेंट कंपनी के मुख्य महाप्रबंधक व केन्द्रीय क्रीड़ा एवं कला परिषद के महासचिव राजीव गुप्ता, सचिव एके अलंग, आलोक श्रीवास्तव, हिमांशु श्रीवास्तव, देवेन्द्र चढ़ोकार सहित बड़ी संख्या में अभ‍िभावक और दर्शक उपस्‍थि‍त थे।

समारोह की शुरूआत शि‍व स्तुति से हुई। नृत्यांगनाओं ने शास्त्रीय शैली में श‍िव शक्त‍ि में, भक्त‍ि में शक्त‍ि के भाव को नृत्य के माध्यम से प्रस्तुत किया। लिटिल चेम्प छोटे नन्हें मुन्नों ने चुलबुले नृत्य को प्रस्तुत किया। बाल कलाकारों ने दो राज्यों की सांस्कृतिक परम्परा को एक साथ रजवाड़ी ओढ़नी गुजराती एवं राजस्थानी लोक नृत्य में प्रस्तुत कर रंगबिरंगी छटा बिखेरी।

हरियाणवी 52 गज हरियाणा के लोक रंग को हरियाणवी जाट नृत्य के माध्यम से 22 प्रश‍िक्षणार्थ‍ियों ने प्रस्तुत किया। राजस्थानी के सोंधी माटी से उपजे घूमर व ढोली ना नृत्य ने दर्शकों को ताली बजाने के लिए मजबूर कर दिया। समारोह की अंतिम प्रस्तुति वेस्टर्न डांस के रूप में रही। इस प्रस्तुति में 24 बाल कलाकारों ने बहुत सुंदर ढंग से गीतों के साथ नृत्य को प्रस्तुत किया। समारोह में प्रस्तुत किए गए नृत्यों की अवधारणा व निर्देशन विश्वनाथ धारगे का रहा।