MPPKVVCL के सैकड़ों आउटसोर्स बिजली कर्मियों के खाते में जमा नहीं हुए ईपीएफ के एक करोड़ रुपए

मध्य प्रदेश पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के अंतर्गत बिजली आउटसोर्स कर्मचारी संगठन के कटनी जिला अध्यक्ष सतीश साहू व जिला प्रभारी संदीप रजक ने बताया कि कटनी जिले के आउटसोर्स कर्मचारियों के ईपीएफ के संबंध मे क्षेत्रीय भविष्य निधि आयुक्त जबलपुर से विस्तृत चर्चा कर जानकारी दी गई। 

जिला अध्यक्ष सतीश साहू ने बताया कि कटनी जिले में 1अप्रैल 2021 में ट्रिग डिटेक्टिव मुबंई प्राइवेट आउटसोर्स एजेंसी को 505 आउटसोर्स कर्मचारियों का ठेका दिया गया था। ठेका कंपनी के द्वारा कर्मचारियों को सिर्फ अप्रैल माह से जुलाई माह तक कुल 4 महीने तक का वेतन दिया गया था, लेकिन ईपीएफ व अन्य सुविधाएं नहीं दी जाती थी।

ट्रिग डिटेक्टिव ठेका कंपनी को दिसंबर माह में ब्लैक लिस्टेड कर दिया गया था व अगस्त माह से अप्रैल माह तक विद्युत विभाग के द्वारा (आरएओ के माध्यम से कुल 9 माह का वेतन दिया गया।  जनवरी 2022 से अप्रैल 2022 तक 4 माह का ईपीएफ अधीक्षण अभियंता द्वारा जमा करा दिया गया है। शेष 9 माह का ईपीएफ न तो आउटसोर्स एजेंसी दे द्वारा और न ही विद्युत विभाग के द्वारा जमा किया गया है।

जबकि मप्र शासन की गाइडलाइन के अनुसार कोई भी आउटसोर्स एजेंसी ईपीएफ का भुगतान नहीं करती है, तो नियोक्ता के द्वारा ईपीएफ की राशि जमा की जायेगी। जिले के 505 आउटसोर्स कर्मचारियों का 9 माह का ईपीएफ लगभग 1करोड 10 लाख रुपए जमा होना बाकी है। संगठन मांग करता है कि जल्द से जल्द आउटसोर्स कर्मियों के ईपीएफ की राशि का भुगतान किया जाए।