करंट लगने से जले आउटसोर्स कर्मी के दोनों हाथ के पंजे, ठेका कंपनी ने नहीं कराया उपचार

मध्य प्रदेश विद्युत मंडल तकनीकी कर्मचारी संघ के प्रांतीय महासचिव हरेंद्र श्रीवास्तव ने बताया कि जबलपुर ग्रामीण सर्किल के सिहोरा कार्यपालन अभियंता कार्यालय के अंतर्गत मझगवा डीसी में कार्यरत ठेका कर्मी राजा भैया पटेल उम्र 47 वर्ष, 27 जुलाई को सुबह 10 बजे देवरी गांव के उपभोक्ता की बंद बिजली के सुधार कार्य के लिए 33×11 केवी खैरानी सब-स्टेशन से बिजली सप्लाई बंद का परमिट लेकर उपभोक्ता की बिजली चालू करने के लिए पोल पर चढ़कर सुधार कार्य कर रहा था।

उसी समय बिजली सप्लाई चालू होने से आउटसोर्स कर्मी के दोनों हाथ करंट लगने की वजह से जल गए एवं 18 फीट की ऊंचाई से जमीन पर गिरने से दाहिने पैर मैं फैक्चर हो गया। जिसके बाद साथियों के द्वारा तत्काल सिहोरा के हॉस्पिटल में प्राथमिक उपचार कराया गया, लेकिन आराम नहीं लगने पर सुहागी के पास प्राइवेट हॉस्पिटल मैं भर्ती कर दिया गया।

आउटसोर्स कर्मी क्रिस्टल कंपनी में कार्यरत है, लेकिन अभी तक क्रिस्टल कंपनी ने इलाज के लिए सहयोग राशि नहीं दी है। संघ के हरेंद्र श्रीवास्तव, जेके कोस्टा, राजकुमार सैनी, मोहन दुबे, अरुण मालवीय, अमीन अंसारी, अजय कश्यप, वीरेंद्र विश्वकर्मा, वीरेंद्र रोहिताश, इंद्रपाल सिंह, लखन सिंह राजपूत, आजाद सकवार, जगदीश मेहरा, सुरेंद्र मेश्राम, दशरथ शर्मा, मदन पटेल आदि ने क्रिस्टल कंपनी के प्रबंधन से इलाज के लिए सहयोग राशि देने की मांग की है।