Sunday, February 25, 2024
Homeमध्य प्रदेशजबलपुरसरकारी कर्मचारियों को कार्यालय जाने में हो रही दिक्कत, निजी स्कूलों ने...

सरकारी कर्मचारियों को कार्यालय जाने में हो रही दिक्कत, निजी स्कूलों ने किया राष्ट्रीय राजमार्ग पर कब्जा

जबलपुर में पेंटीनाका चौराहे से वायएमसी जाने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग को सेंट अलॉयसियस और सेंट जोसेफ कॉन्वेंट स्कूल के चपरासी बंद कर रहे हैं। राष्ट्रीय राजमार्गों को रोककर बच्चों को स्कूल से ग्राउंड में खड़े वाहन तक पहुंचा रहे हैं, राष्ट्रीय राजमार्ग पर यातायात को रोकने के अधिकार स्कूल प्रबंधन को किसने दिए हैं यह जांच का विषय है।

मार्ग को रोकने के अधिकार किसी को भी नहीं होता है, बिना किसी अधिकृत परमिशन के मार्ग को रोककर खुलेआम अपराध किया जा रहा है। प्रतिदिन दोपहर के एक बजे से तीन बजे के बीच आठ से दस चपरासी लकड़ी, सीटी, लाल लाइट लेकर राष्ट्रीय राजमार्ग पर वाहनों को रोक देते है। राष्ट्रीय राजमार्ग जाम करने पर प्रशासन को तत्काल कार्यवाही करनी चाहिए। इस दौरान एम्बुलेंस जैसे आवश्यक वाहनों को भी न जाने देने की कार्रवाई पूर्णतः गलत है।

वहीं सरकारी कर्मचारियों को भी शासकीय कार्यालय जाने से रोका जा रहा है, बच्चों को स्कूल से मार्ग पार कराने के लिए दिन में करीबन 50 बार राष्ट्रीय राजमार्ग को बंद किया जाता है। इस दौरान एम्बुलेंस, कृषकों के ट्रैक्टर, हार्वेस्टर को किसी भी समय रोक दिया जाता है। सीटी बजा करके यहां के चपरासी जनता के साथ अभद्र रूप से व्यवहार करते हैं। आगे जाने के लिए निवेदन करने पर यह वाहनों की लाइट तोड़ देते हैं, गालियां बकने के साथ ही यह धामकी देते हैं कि जो कर सको तो कर लो, यहां बड़े-बड़े अधिकारियों के बच्चे भी पढ़ते हैं।

मध्य प्रदेश अधिकारी कर्मचारी संयुक्त मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष जितेंद्र सिंह, जिला अध्यक्ष  अटल उपाध्याय, संतोष मिश्रा, विश्वजीत पटेरिया, नरेश शुक्ला, कपिल दुबे, रविकांत दहायत, अजय दुबे, योगेंद्र मिश्रा, योगेश चौधरी, धीरेंद्र सिंह, सतीश उपाध्याय, विनय नामदेव, नरेंद्र सेन, मनोज राय, डॉक्टर संदीप नेमा, ब्रजेश मिश्रा ने राष्ट्रीय राजमार्ग को बंद करने वाले सेंट अलॉयसियस और सेंट जोसेफ कॉन्वेंट स्कूल सदर पेंटीनाका स्कूल प्रबंधन पर कड़ी कार्रवाई करने की मांग करते हुए, शासकीय कर्मचारियों को कार्यालय जाने से रोकने पर शासकीय कार्य में बाधा डालने का मामला दर्ज करने पर जोर दिया है, राष्ट्रीय राजमार्ग को निर्विघ्न आवागमन योग्य बनाए रखने की मांग की है।

टॉप न्यूज