Sunday, March 3, 2024
Homeएमपीजबलपुरजबलपुर में होगा इंडियन इंजीनियरिंग कांग्रेस का ऐतिहासिक आयोजन, आयेंगे डीआरडीओ के...

जबलपुर में होगा इंडियन इंजीनियरिंग कांग्रेस का ऐतिहासिक आयोजन, आयेंगे डीआरडीओ के अध्यक्ष

द इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स (इंडिया) भारतीय इंजीनियरिंग कांग्रेस का 38वाँ अधिवेशन 27 से 29 दिसंबर तक अपने जबलपुर लोकल सेंटर, जबलपुर के तत्वावधान में आयोजित करने जा रहा है। अधिवेशन की थीम है रीइमेजिंग दुमॉरोः शेपिंग द फ्यूचर थू डिसरपटिव एंड इंटरडिसिप्लीनरी टेक्नॉलजीस।

इस अधिवेशन के आयोजन अध्यक्ष इंजी. राकेश राठौर, काउन्सिल मेम्बर, द इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स (इंडिया) तथा आयोजन सचिव ब्रिगेडियर विपिन कुमार त्रिवेदी, अध्यक्ष, जबलपुर लोकल सेंटर, द इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स (इंडिया) है। अधिवेशन हेतु हमारे तकनीकि भागीदार राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, भोपाल तथा ज्ञना भागीदार पंडित द्वारका प्रसाद मिश्र भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी, डिजाइन और विनिर्माण संस्थान है।

इस अधिवेशन को करने का उदेष्य तकनीकी बिरादरी को जागरुक कर इंजीनियरिंग के विभिन्न क्षेत्रों में विकास करना तथा भविष्य की चुनौतियों का सामना करते हुए राष्ट्र के विकास को सुनिष्चित करना।

मध्य प्रदेश के इतिहास में यह पहली बार है जब ये आयोजन प्रदेश के जबलपुर शहर में हो रहा है इससे पहले ये अधिवेषन भारत के सभी बड़े शहरो में होता आया है परन्तु इस बार उक्त अधिवेशन को जबलपुर में करने की मंजूरी दी गई है।

अधिवेशन में देश और विदेश के अभियांत्रिकी संस्थानों से अभियंता इस अधिवेशन में भाग लेंगे तथा अभियांत्रिकी कि 15 प्रमुख शाखाओं में 200 से ज्यादा शोध पत्र प्रस्तुत किये जायेंगे।

इसके अलावा इस अधिवेशन में विभिन्न हस्तियों के नाम पर स्मारक व्याख्यान भी प्रस्तुत किये जायेंगे, जिन्होंने अभियांत्रिकि के क्षेत्र में अपना प्रमुख्य योगदान दिया है और देश की तरक्की में अग्रसर रहे हैं। जिनमें सर एम विश्वेशवरैया स्मारक व्याख्यान, भाई काका स्मारक व्याख्यान, सर राजेन्द्र नाथ मोकरजी स्मारक व्याख्यान, निघू भूषण स्मारक व्याख्यान, डॉ एएन खोसला स्मारक व्याख्यान, डॉ अमिताभ भट्टाचार्या स्मारक व्याख्यान, प्रो. सीएस झा स्मारक व्याख्यान तथा डॉ केएल राव स्मारक व्याख्यान शामिल है।

अधिवेशन में देश के कई प्रमुख संस्थानों से अतिथी पधारेंगे, जिनमें डीआरडीओ के अध्यक्ष, रेलवे से कई प्रतिष्ठित व्यक्ति, देश के विभिन्न अभियांत्रिकि महाविद्यालयों से उनके प्राध्यापक, उद्योगपति एवं अन्य कई संस्थानों से लोग भाग लेंगे तथा देश की कई बड़ी संस्थायें जैसे मेकॉन, गुजरात मेट्रो रेल, व्हीएफजे, इंडियन आयल, इंजीनियरिंग स्टाफ कॉलेज ऑफ इंडिया आदि इस कार्यक्रम में भाग लेंगे।

अधिवेशन में कई सारे पुरस्कार य एवार्ड भी दिए जायेंगे, जिनमें इंडस्ट्री एक्सेलेन्स एवार्ड, इंजीनियरिंग एजुकेशन एवार्ड, सेफ्टी एण्ड क्वालिटी एवार्ड एवं इंस्टीट्यूशन के अनेक एवार्ड आदि शामिल है तथा एलम्नी मीट, वीमेन्स इंजीनियरिंग मीट, इंटरनेशनल मीट भी आयोजित होंगी जिसमे देश-विदेश से प्रतिनिधी हिस्सा लेंगे जिनमे कोरिया, बंगलादेश आदि देशो के प्रतिनिधी शामिल है।

उक्त कार्यक्रम को सुचारू रूप से करने हेतु विभिन्न समितियों का गठन किया गया है, जिसमें मुख्य रूप से डॉ राजीव जैन, मानसेवी सचिव, जबलपुर लोकल सेन्टर, द इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स (इंडिया), इंजी पीसी दुबे पूर्व अध्यक्ष, जबलपुर लोकल सेन्टर, द इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स (इंडिया), इंजी तरुण आनन्द, पूर्व अध्यक्ष, जबलपुर लोकल सेन्टर, द इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स (इंडिया), इंजी. वीरेन्द्र साहू, पूर्व अध्यक्ष, जबलपुर लोकल सेन्टर, द इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स (इंडिया), डॉ आईके खन्ना, पूर्व अध्यक्ष, जबलपुर लोकल सेन्टर, द इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स (इंडिया), डॉ मुक्ता भटेले, इंजी आशीष चक्रवोर्ती, इंजी. एसएस पवार, डॉ संजय वर्मा, इंजी केसी ढिमोले का सहयोग प्राप्त है।

टॉप न्यूज