Sunday, March 3, 2024
Homeएमपीजबलपुररेल निजीकरण रोकने और एनपीएस हटाने रेलकर्मियों को सड़क पर उतरना होगा,...

रेल निजीकरण रोकने और एनपीएस हटाने रेलकर्मियों को सड़क पर उतरना होगा, WCRMS के अधिवेशन में बोले वक्ता

वेस्ट सेन्ट्रल रेलवे मजदूर संघ का वार्षिक अधिवेशन 27 दिसम्बर को सीनियर रेलवे इन्स्टीट्यूट जबलपुर में धूमधाम से सम्पन्न हुआ। सामान्य सभा, केन्द्रीय कार्यसमिति, वर्किंग कमेटी की बैठक आयोजित हुई।

मुख्य कार्यकम में अपर महाप्रबंधक आर.एस. सक्सेना, प्रमुख मुख्य कार्मिक अधिकारी श्री प्रभात, प्रमुख मुख्य यांत्रिक अभियंता नितीन चौधुरी, प्रमुख मुख्य चिकित्सा निदेशक डॉ. रूपा कपिल, प्रमुख मुख्य विद्युत अभियंता अमरेन्द्र कुमार सीपीओ/प्रशासनिक दीपक गुप्ता, डिप्टी सीपीओ आईआर राहुल श्रीवास्तव डिप्टी सीवीओ संजीव तिवारी सचिव प्रमुख मुख्य कार्मिक अधिकारी रविन्द्र कुमार, कार्यकारी अध्यक्ष अनुज तिवारी महामंत्री अशोक शर्मा संयुक्त महामंत्री सतीश कुमार, संयुक्त महामंत्री आर.के शर्मा, मंडल अध्यक्ष राजेश पांडे, एस के. गुप्ता, एस.एन. शुक्ला, मंडल सचिव डी. पी. अगवाल, अब्दूल खालिक, बी.एल. मिश्रा, कमलेश परिहार, मनोज अग्रवाल, अवधेश तिवारी समेत पदाधिकारी व आला अधिकारी उपस्थित रहे। कार्यकम का संचालन डी.पी. अग्रवाल मंडल सचिव द्वारा किया गया ।

एनपीएस के खिलाफ रैली में उमड़ा जन सैलाब

एनपीएस के खिलाफ रेल मजदूर संघ के वार्षिक अधिवेशन की सुरवात भव्य रैली उमंग सामुदायिक भवन से प्रारंभ होकर डीआरएम जीएम कार्यालय होते हुए रेलवे स्टेशन, सीनियर रेलवे इंस्टिट्यूट पहुँची। गगनभेदी नारों बैनर, झंडे और तिरंगा पट्टी पहने लगभग 2000 युवा महिला और वरिष्ठ रेल कर्मचारी रैली में शामिल हुए।

मुख्य वक्ता अशोक शर्मा ने अपने सम्बोधन में कहा की केन्द्र सरकार द्वारा निजीकरण, निगमीकरण का रास्ता अपनाया गया है। एनपीएस थोपी गई जिसे रोकने के लिए रेल कर्मी और उनके परिवार के प्रत्येक सदस्य को सड़क पर उतरना होगा। रेल को बेचना किसी भी कीमत पर बर्दाशत नही किया जाएगा।

अशोक शर्मा ने एनपीएस सहित तमाम मुद्दो को लेकर अपनी बात अधिवेशन में उपस्थित तमाम अधिकारियों और रेल कर्मियो के समक्ष रखते हुए केन्द्र सरकार को अगाह किया है कि मत करो जुल्म इतना की नामोनिशान मिट जाये। उनका कहना था ये सरकार पूँजीपतियों, उद्योगपतियों की है। उन्हें लाभ पहुँचाने के लिये रेलवे को बेचने तैयार है। इसको बचाना होगा इसके लिए जल्द ही एक्शन ऐलान तैयार किया जायेगा।

पमरे अधिकारियों और कर्मचारियों की मेहनत और लगन से पमरे की प्रगति हो रही है। लोडिग के मामले में पमरे आगे है। कई नए आयाम स्थापित पमरे में हुए है। कोरोना काल में भी काम का एक अच्छा वातावरण बना और रेल कार्य में कोई रूकावट नहीं हुई। विकास, विस्तार, नई लाइन दोहरीकरण से लेकर हो रहे कार्यों से सभी को अवगत किया। उन्होंने अधिवेशन में रेल मजदूर संघ के कार्यों की तारीफ की और धन्यवाद दिया।

एस.एन. शुक्ला ने रेलकर्मियो को संबोधित करते हुये कहा है कि जाग जाओ अब देर नही करना है। एनपीएस, निजीकरण बर्दाशत नही हैं। लंबे समय से सरकार और रेल मंत्री से हो रही चर्चा और पत्र व्यवहार से नतीजा कुछ नजर नहीं आ रहा। मजदूर हित को लेकर एनएफआईआर और डब्ल्यूसीआरएमएस सदैव तत्पर है। संयुक्त महामंत्री सतीश कुमार ने अधिवेशन में उपस्थित होने पर सभी का आभार व्यक्त किया।

अधिवेशन में संघ के हर्ष वर्मा, आर.ए. सिंह, एस.के. वर्मा, मंदीप सिंह, अनिल चौबे दीना यादव, संदीप श्रोती, जे.पी. मीना, संतोष त्रिवेदी, दीपक केसरी, संजय चौधरी, मंतोष कुमार, रोशन यादव, तरूण बत्रा, मो. अरशद अफजल हाशमी, एस.आर. बाउरी, कुलदीप परसाई, श्याम कला, श्रीवास्तव, दुर्गा तिवारी, नम्रता सोलंकी, सुधीर कुमार, खुशबू साहू, सिया पचौरी, निशा माल्या, राखी जाटव, बॉबी धोलपुरे ओ.पी. चौकसे, रोमेश चौबे, राजेन्द्र शर्मा वृन्दावन यादव, देवी यादव, भूपन सिंह आदि रेल कर्मी उपस्थित रहे।

टॉप न्यूज