Wednesday, February 28, 2024
Homeमध्य प्रदेशजानिए कौन हैं मध्य प्रदेश के नए मुख्यमंत्री मोहन यादव, शिक्षा और...

जानिए कौन हैं मध्य प्रदेश के नए मुख्यमंत्री मोहन यादव, शिक्षा और राजनीतिक जीवन

उज्जैन दक्षिण विधानसभा सीट से विधायक बने भारतीय जनता पार्टी के नेता मोहन यादव को मध्य प्रदेश का नया मुख्यमंत्री चुना गया है। इससे पहले मोहन यादव 2013 में पहली बार उज्जैन दक्षिण सीट से विधायक बने। दूसरी बार 2018 के मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में वह एक बार फिर निर्वाचित हुए और विधायक बने। वे पिछली शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व वाली मध्य प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे।

25 मार्च 1965 को महाकाल की नगरी उज्जैन में जन्मे मोहन यादव के पिता का नाम पूनमचंद यादव है। मोहन यादव का विवाह सीमा यादव से हुआ। मोहन यादव और सीमा यादव के तीन बच्चे दो पुत्र एवं एक पुत्री है।

शैक्षणिक योग्यता की बात करें तो मोहन यादव ने बीएससी, एलएलबी, एमए (राज.विज्ञान), एमबीए, पीएचडी की है और मोहन यादव की अभिरुचि पर्यटन, संस्‍कृति, इतिहास, विज्ञान, खेलकूद में है। वहीं मोहन यादव का व्यवसाय कृषि है।

मोहन यादव राजनीतिक जीवन में भाजयुमो, भाजपा और राष्‍ट्रीय स्‍वयं सेवक संघ में विभिन्न पदों पर रहे। वे माधव विज्ञान महाविद्यालय छात्रसंघ के सह-सचिव एवं 1984 में अध्‍यक्ष। सन् 1984 में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद उज्‍जैन के नगर मंत्री एवं 1986 में विभाग प्रमुख। सन् 1988 में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद मध्‍यप्रदेश के प्रदेश सहमंत्री एवं राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्‍य और 1989-90 में परिषद की प्रदेश इकाई के प्रदेश मंत्री तथा सन् 1991-92 में परिषद के राष्‍ट्रीय मंत्री। सन्1993-95 मेंराष्‍ट्रीय स्‍वयं सेवक संघ, उज्‍जैन नगर के सह खण्‍ड कार्यवाह, सायं भाग नगर कार्यवाह एवं 1996 में खण्‍ड कार्यवाह और नगर कार्यवाह। सन् 1997 में भाजयुमो की प्रदेश कार्यसमिति के सदस्‍य। सन् 1998 में पश्चिम रेलवे बोर्ड की सलाहकार समिति के सदस्‍य। सन् 1999 में भाजयुमो के उज्‍जैन संभाग प्रभारी। सन् 2000-2003 में विक्रम विश्‍वविद्यालय उज्‍जैन की कार्यपरिषद के सदस्‍य। सन् 2000-2003 में भाजपा के नगर जिला महामंत्री एवं सन् 2004 में भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति के सदस्‍य। सन् 2004 में सिंहस्‍थ, मध्‍यप्रदेश की केन्‍द्रीय समिति के सदस्‍य। सन् 2004-2010 में उज्‍जैन विकास प्राधिकरण के अध्‍यक्ष (राज्‍य मंत्री दर्जा)। सन् 2008 से भारत स्‍काउट एण्‍ड गाइड के जिलाध्‍यक्ष। सन् 2011-2013 में मध्‍यप्रदेश राज्‍य पर्यटन विकास निगम, भोपाल के अध्‍यक्ष (केबिनेट मंत्री दर्जा)। भाजपा की प्रदेश  कार्यकारिणी के सदस्‍य। सन् 2013-2016 में भाजपा के अखिल भारतीय सांस्‍कृतिक प्रकोष्‍ठ के सह-संयोजक। उज्‍जैन के समग्र विकास हेतु अप्रवासी भारतीय संगठन शिकागो (अमेरिका) द्वारा महात्‍मा गांधी पुरस्‍कार और इस्‍कॉन इंटरनेशनल फाउंडेशन डे द्वारा सम्‍मानित। मध्‍यप्रदेश में पर्यटन के निरंतर विकास हेतु सन् 2011-2012 एवं 2012-2013 में राष्‍ट्रपति द्वारा पुरस्‍कृत। सन् 2013 में चौदहवीं विधान सभा के सदस्‍य निर्वाचित। सन् 2013 में चौदहवीं विधानसभा के सदस्‍य निर्वाचित। सन् 2018 में दूसरी बार विधानसभा सदस्‍य निर्वाचित। 2 जुलाई 2020 को मंत्री पद की शपथ। शिवराज सिंह चौहान मंत्रिमंडल में 2023 तक उच्च शिक्षा मंत्री रहे।

टॉप न्यूज