Sunday, March 3, 2024
Homeएमपीकरंट से झुलसा आउटसोर्स कर्मी 20 फीट ऊंचाई से गिरा, बिजली कंपनी...

करंट से झुलसा आउटसोर्स कर्मी 20 फीट ऊंचाई से गिरा, बिजली कंपनी के पास नहीं है इलाज के लिए पैसा

मध्य प्रदेश की बिजली कंपनियों में कार्यरत आउटसोर्स कर्मी तब तक बिजली कंपनी के कर्मचारी रहते हैं, जब तक विशेष अवसरों पर उनसे 16 घंटे तक ड्यूटी कराई जाती है, लेकिन जैसे ही कोई आउटसोर्स कर्मी कार्य के दौरान करंट लगने या अन्य कारणों से घायल हो जाता है तो वे बिजली कंपनियों के कर्मचारी नहीं रह जाते और कंपनियों के पास उनके इलाज के लिए पैसे नहीं होते हैं।

मध्य प्रदेश विद्युत मंडल तकनीकी कर्मचारी संघ के प्रांतीय महासचिव हरेंद्र श्रीवास्तव ने बताया कि 2 दिसंबर 2023 को जिला नरसिंहपुर क्षेत्र के अंतर्गत पूर्व क्षेत्र कंपनी के कार्यपालन अभियंता कार्यालय नरसिंहपुर डिवीजन के अंतर्गत समपुर डीसी कोसम खरिया खेड़ा गांव में 11 केवी लाइन का जंपर जल गया था।

हरेंद्र श्रीवास्तव ने बताया कि जूनियर इंजीनियर जीएस रजक के द्वारा आउटसोर्स कर्मी नितिन पटेल उम्र 25 वर्ष को 11 केवी का जम्पर लगाने के लिए कहा गया था, इसके लिए रामखिरिया 33*11 केवी सब स्टेशन से सप्लाई बंद कर दी गई थी। लेकिन कार्य करने के दौरान करंट लगने से आउटसोर्स कर्मी का बाएं तरफ का पेट और पीठ जल गई और आउटसोर्स कर्मी 20 फीट की ऊंचाई से खेत में गिर कर बेहोश हो गया। सहयोगियों के द्वारा उसे तत्काल प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती कर दिया गया। वहां के डॉक्टर के द्वारा गंभीरता को देखते हुए 3 दिसंबर 2023 को जबलपुर में एक प्राइवेट हॉस्पिटल के आईसीयू वार्ड में भर्ती कर दिया गया।

ठेका कंपनी उर्मिला के सुपरवाइजर के द्वारा आउटसोर्स कर्मी को किसी प्रकार का सहयोग प्रदान नहीं किया गया और ना ही उसने अभी तक आउटसोर्स कर्मी से कोई संपर्क किया गया। वहीं जिस कंपनी का कार्य करते हुए आउटसोर्स कर्मी घायल हुआ है उसने भी कर्मी की न सुध न ही इलाज के लिए सहायता राशि दी। इतना ही बिजली कंपनी प्रबंधन ने आउटसोर्स कर्मी के इलाज के लिए सहायता राशि प्रदान करने ठेका कंपनी को निर्देशित किया। आउटसोर्स कर्मी के पिता ने बताया कि अभी हमारे ₹40 हज़ार खर्च हो गए हैं।

संघ के शशि उपाध्याय, मोहन दुबे, राजकुमार सैनी, अजय कश्यप, लखन सिंह राजपूत, मदन पटेल, दशरथ शर्मा, ख्याली राम, जीके कोस्टा, महेश पटेल, इंद्रपाल सिंह, पवन यादव, संदीप यादव, राकेश नामदेव, पीके मिश्रा, अमीन अंसारी, राजेश यादव आदि ने ठेकेदार उर्मिला कंपनी से मांग की है कि आउटसोर्स कर्मी के इलाज के लिए तत्काल इलाज में लगे पैसों का भुगतान करें एवं कार्यपालन अभियंता नरसिंहपुर से मांग की गई है कि जब सब-स्टेशन से बिजली सप्लाई बंद कर दी गई थी तो आउटसोर्स कर्मी को करंट कैसे लग गया? इसकी सूक्ष्मता से जांच कर दोषी के ऊपर कार्यवाही की जाए।

टॉप न्यूज