MPPKVVCL 60 लाख उपभोक्ताओं के मोबाइल पर एसएमएस के माध्यम से भेज रही बिजली बिल

मप्र पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड द्वारा पर्यावरण के अनुकूल एवं त्वरित बिल प्रदान करने के उद्देश्य से पेपरलेस बिजली बिल उपभोक्ताओं के मोबाइल पर एसएमएस के माध्यम से भेजे जा रहे हैं। कंपनी क्षेत्र के 20 जिलों के लगभग 65 लाख बिजली उपभोक्ताओं में से लगभग 60 लाख 45 हजार उपभोक्ताओं को उपभोक्ताओं को उनके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर मैसेज के साथ लिंक भेजी जा रही है। मैसेज में बिजली बिल की राशि तथा अंतिम तिथि का उल्लेख किया जाता है। मैसेज के साथ ही बिजली बिल की लिंक भी रहती है, जिसे उपभोक्ता डाउनलोड कर अपने बिल का विवरण देख सकते हैं। 

जबलपुर शहर के 3 लाख 68 हजार 858 उपभोक्ताओं में से 3लाख 62 हजार 740 उपभोक्ताओं को उनके मोबाइल पर बिजली बिल भेजे जा रहे हैं, मात्र 6 हजार 118 उपभोक्ताओं के मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड नहीं होने के कारण उनके मोबाइल पर बिल भेजने में कठिनाई हो रही है। जबलपुर ग्रामीण क्षेत्र के 2 लाख 90 हजार 89 उपभोक्ताओं में से 2लाख 77 हजार 389 उपभोक्ता अपना मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड करवा चुके हैं तथा मात्र 12 हजार 700 उपभोक्ता शेष हैं।

इसी तरह छिंदवाडा जिले में 5 लाख 67 हजार 061, सागर जिले में 5 लाख 11 हजार 915, सतना में 4 लाख 76 हजार 506, बालाघाट जिले में 3 लाख 94 हजार 689 तथा रीवा जिले में 3 लाख 92 हजार 278 बिजली उपभोक्ता अपना मोबाइल नंबर बिजली बिल में दर्ज करवाकर बिल प्राप्त कर रहे हैं। पेपरलेस बिजली बिल योजना की सुविधा प्राप्त करने के लिए उपभोक्ताओं को मोबाइल नंबर दर्ज करवाना अथवा परिवर्तित मोबाइल नंबर को अपडेट करवाना आवश्यक है।

कैसे दर्ज कराएं मोबाइल नंबर

ऐसे उपभोक्ता जिनके मोबाइल नंबर बिजली बिल में दर्ज नहीं हैं अथवा परिवर्तित हो गए हैं, वे अपना मोबाइल नंबर  कॉल सेंटर के टॉलफ्री नंबर 1912 पर संपर्क कर आसानी से दर्ज करवा सकते हैं। स्मार्ट बिजली एप एवं बिजली कार्यालय के माध्यम से भी मोबाइल नंबर दर्ज करवाया जा सकता है। मोबाइल नंबर दर्ज हो जाने पर उपभोक्ता बिजली बिल की राशि तथा बिल भुगतान की अंतिम तिथि की जानकारी तत्काल अपने मोबाइल पर प्राप्त कर सकते हैं।