Home Tags बो दिये हैं खेत में अपने उजाले

Tag: बो दिये हैं खेत में अपने उजाले

बो दिये हैं खेत में अपने उजाले- शीतल वाजपेयी

एक दिन सूरज उगाकर दूर कर दूँगी अँधेरा, आज मैंने बो दिये हैं खेत में अपने उजाले आस औ विश्वास के जल से इसे सीचूँगी हर...

Recent

साहित्य

This function has been disabled for लोकराग.