Home Tags लोकराग

Tag: लोकराग

ससम्मान जीवन जीने का अधिकार: सलिल सरोज

भारतीय संविधान दुनिया के उन अद्वितीय संविधानों में से एक है जो समाज के प्रत्येक वर्ग का ध्यान रखता है। संविधान के निर्माताओं को...

डोहरिया कला के रणबांकुरे: संजय कुमार राव

23 अगस्त डोहरिया कला के अमर बलिदानियों की पावन स्मृति का दिन है। देश की आजादी की क्रांतिगाथा में स्वर्णिम अक्षरों में अपना नाम...

आत्मनिर्भर भारत: अंकिता वासन

किसी भी दृष्टि से आत्मनिर्भरता मानव का सबसे बड़ा गुण होती है और उसके लिए सबसे बड़ा सहारा बनती है। व्यक्ति यदि आत्मनिर्भर होगा, तो उसे दूसरों...

मेड इन इंडिया मुहिम ने मेड इन चाइना को किया पस्त:...

मेड इन इंडिया मुहिम आज कारगर साबित हुई है जबकि एक ओर मेड इन चाइना है जिसका बेहद खराब गुणवत्ता के कारण बहिष्कार हो...

हायकू- मनोज शाह

ये बादल तो प्रकृति का सौगात जीवन कूल बादल है या इश्क़ की पेचीदगी मन व्याकुल बादल है या बारिशों का समुंद्र सावन झूमे जब छाये ये तब मालूम होता इश्क़े उन्माद छंट जाये ये तब मालूम...

पश्चिम बंगाल की इस गायिका की मुरीद हुईं लता मंगेशकर, ट्वीट...

पार्श्व गायिका लता मंगेशकर के गीतों की पूरी दुनिया मुरीद है और उन्हें बार बार सुनना चाहती हैं। लेकिन लता मंगेशकर खुद भी एक...

खुद से खुद की बातें: लॉकडाउन से अनलॉक तक का सफर-...

आज पूरा देश वैश्विक महामारी से जूझ रहा है। हर तरफ कोरोना खिलखिला रहा है और जीवन देहरी पर असहाय खड़ा है। तीन महीने...

सैनिक- अतुल पाठक

राष्ट्र के वास्तविक नायक सैनिक ही होते हैं, जो निजी स्वार्थ को त्याग कर अपने देश की रक्षा के लिए हमेशा सर्वस्व निछावर करने...

एक भारतीय गधे की कहानी- मुकेश चौरसिया

(गधों के आगे इस तरह के कोई विशेषण लगाना चाहिए या नहीं यह तो मुझे पता नहीं क्योंकि गधे-घोड़े आदि संज्ञाएं तेजी से विशेषण...

लॉकडाउन: रिश्तों में मिठास भरने का मौका- अतुल पाठक

लॉकडाउन एक आपातकालीन व्यवस्था है। लॉकडाउन के तहत सभी देशवासियों को अपने-अपने घरों में सुरक्षित रहने की सलाह दी गई है और यह हमारी...

बढ़ सकती हैं लड़कियों के विवाह की उम्र, मातृत्व की आयु...

देश में लड़कियों के विवाह की उम्र बढ़ सकती है। केंद्र सरकार ने लड़कियों की मातृत्व की आयु, मातृ मृत्यु दर को कम करने...

प्रकृति का महत्व- अतुल पाठक

प्रकृति जीवन का अनमोल तोहफ़ा है, जो न सिर्फ एक है अपितु उसमें कई चीजें समावेशित हैं जिनके बिना हम जीना तो छोड़ो जीने...

देश में दो लाख पे पार पहुंची कोरोना संक्रमितों की संख्या

सरकार की तमाम कोशिशों के बाद भी देश में कोरोना वायरस से संक्रमण का आंकड़ा तेजी बढ़ता जा रहा है। लॉकडाउन में मिली छूट...

तीखा तीर

हुई जार्ज की हत्या यूएस में फैला दंगा गोरे काले में ठनी पुलिस से लिय़ा था पंगा दंगाई चढ़े घर में ट्रम्प छुपे बंकर में -वीरेंद्र तोमर

मन की बात में बोले पीएम मोदी: कोरोना से रहें सतर्क,...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज मन की बात में कहा कि कोरोना के प्रभाव से हमारी मन की बात भी अछूती नहीं रही है।...

कितना उपयोगी साबित होगा श्रम कानूनों में बदलाव- मोहित कुमार उपाध्याय

उन्नीसवीं शताब्दी के उत्तरार्ध में जब आधुनिक उधोग धीरे धीरे शुरू हो रहा था और रेलवे, पोस्ट आफिस और टेलीग्राफ जैसी उपयोगी सेवाओं का...

Recent

साहित्य

This function has been disabled for लोकराग.