Sunday, May 26, 2024
Homeटॉप न्यूजपीएम मोदी ने किया अटल टनल का उद्घाटन, कहा अटल जी का...

पीएम मोदी ने किया अटल टनल का उद्घाटन, कहा अटल जी का सपना हुआ पूरा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अटल टनल का उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस दौरान कहा कि आज सिर्फ अटल जी का ही सपना नहीं पूरा हुआ है। आज हिमाचल प्रदेश के करोड़ों लोगों का भी दशकों पुराना इंतजार खत्म हुआ है, इस टनल से मनाली और केलॉन्ग के बीच की दूरी 3-4 घंटे कम हो ही जाएगी।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पहाड़ के मेरे भाई-बहन समझ सकते हैं कि पहाड़ पर 3-4 घंटे की दूरी कम होने का मतलब क्या होता है। हमेशा से यहां के इंफ्रास्ट्रक्चर को बेहतर बनाने की मांग उठती रही है, लेकिन लंबे समय तक हमारे यहां बॉर्डर से जुड़े इंफ्रास्ट्रक्चर के प्रोजेक्ट या तो प्लानिंग की स्टेज से बाहर ही नहीं निकल पाए या जो निकले वो अटक गए, लटक गए, भटक गए।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि साल 2002 में पूर्व प्रधानमंत्री अटल जी ने इस टनल के लिए अप्रोच रोड का शिलान्यास किया था। अटल जी की सरकार जाने के बाद, जैसे इस काम को भी भुला दिया गया था। स्थिति ये थी कि 2013-14 तक टनल का काम सिर्फ 1300 मीटर ही हो पाया था।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमारी सरकार के फैसले साक्षी हैं कि जो कहते हैं, वो करके दिखाते हैं। देश हित से बड़ा, देश की रक्षा से बड़ा हमारे लिए और कुछ नहीं। उन्होंने कहा कि लेकिन देश ने लंबे समय तक वो दौर भी देखा है जब देश के रक्षा हितों के साथ समझौता किया गया। सड़क बनाने का काम हो, पुल बनाने का काम हो, सुरंग बनाने का काम हो, इतने बड़े स्तर पर देश में पहले कभी काम नहीं हुआ। इसका बहुत बड़ा लाभ सामान्य जनों के साथ ही हमारे फौजी भाई-बहनों को भी हो रहा है।

अटल टनल से मनाली और लेह के बीच सड़क की दूरी 46 किलोमीटर कम हो गई है। साथ ही दोनों जगहों के बीच सफर का समय लगभग 3 से 4 घंटे कम हो गया है। अटल टनल का दक्षिण पोर्टल मनाली से 25 किलोमीटर दूर 3060 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है, जबकि इसका उत्तर पोर्टल लाहौल घाटी में तेलिंगसिस्सु गांव के पास 3071 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।

जानकारी के अनुसार अटल टनल घोड़े की नाल के आकार की है। यह 8 मीटर सड़क मार्ग के साथ सिंगल ट्यूब और डबल लेन वाली टनल है। इसकी ओवरहेड निकासी 5.525 मीटर है। यह 10.5 मीटर चौड़ी है, इसमें 3.6&2.25 मीटर फायर प्रूफ आपातकालीन निकास टनल भी है, जिसे मुख्य टनल में ही बनाया गया है। अटल टनल को अधिकतम 80 किलोमीटर प्रति घंटे की गति के साथ प्रतिदिन 3000 कारों और 1500 ट्रकों के यातायात घनत्व के लिए डिजाइन किया गया है।

कई विशेषताओं से युक्त अटल टनल के दोनों पोर्टल पर टनल प्रवेश बैरियर लगाये गये हैं। साथ ही आपातकालीन कम्युनिकेशन के लिए प्रत्येक 150 मीटर दूरी पर टेलीफोन कनेक्शन दिया गया है, वहीं प्रत्येक 60 मीटर दूरी पर फायर हाइड्रेंट सिस्ट लगाया गया है। इसके अलावा यह टनल सेमी ट्रांसवर्स वेंटिलेशन सिस्टम, एससीएडीए नियंत्रित अग्निशमन, रोशनी और निगरानी प्रणाली सहित अति-आधुनिक इलेक्ट्रो-मैकेनिकल प्रणाली से युक्त है।

संबंधित समाचार

Advertisement