देश के उच्च शिक्षण संस्थानों की इंडिया रैंकिंग 2022 जारी, IIT-Madras लगातार चौथे वर्ष ओवरऑल कैटेगरी में टॉप पर

केंद्रीय शिक्षा, कौशल विकास और उद्यमिता मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने आज उच्च शिक्षण संस्थानों की इंडिया रैंकिंग 2022 जारी की। इस अवसर पर अपने संबोधन में केंद्रीय मंत्री प्रधान ने कहा कि हमारे उच्च शिक्षा संस्थान हमारी शिक्षा की इको-सिस्टम को और अधिक जीवंत बनाने और हमारे युवाओं को भविष्य के लिए तैयार करने की दिशा में काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मूल्यांकन, मान्यता और रैंकिंग के लिए एक मजबूत और वस्तुनिष्ठ ढांचा उच्च शिक्षा की इको-सिस्टम गुणवत्ता बढ़ाने में प्रमुख भूमिका निभाएगी।

धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि हम एक ज्ञान आधारित अर्थव्यवस्था बनाने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं जो नवाचार-आधारित और प्रौद्योगिकी-संचालित हो। उन्होंने कहा कि हमारे उच्च शिक्षण संस्थानों को भारत को एक अग्रणी वैश्विक नवाचार और डिजिटल अर्थव्यवस्था बनाने और पिरामिड आबादी के निचले हिस्से के लिए गुणवत्तापूर्ण शिक्षा को किफायती और सुलभ बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभानी है।

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मद्रास ने लगातार चौथे वर्ष समग्र श्रेणी में और लगातार सातवें वर्ष इंजीनियरिंग में अपना पहला स्थान बरकरार रखा है। समग्र श्रेणी में शीर्ष 100 में 40 सीएफटीआई और सीएफयू (38 तकनीकी संस्थानों सहित), 26 राज्य विश्वविद्यालय, 24 डीम्ड विश्वविद्यालय, 6 निजी विश्वविद्यालय, 7 चिकित्सा संस्थान और 3 प्रबंधन संस्थान शामिल हैं। भारतीय विज्ञान संस्थान, बेंगलुरु लगातार सातवें वर्ष विश्वविद्यालयों की श्रेणी में शीर्ष पर है। यह लगातार दूसरे वर्ष अनुसंधान संस्थानों की श्रेणी में प्रथम स्थान पर रहा। आईआईएम अहमदाबाद प्रबंधन विषय में लगातार तीसरे वर्ष अपना पहला स्थान बरकरार रखते हुए शीर्ष पर है।

वहीं अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), नई दिल्ली लगातार पांचवें वर्ष चिकित्सा में शीर्ष स्थान पर है। इसके अलावा, एम्स को पहली बार ओवरऑल कैटेगरी में 9वें स्थान पर रखा गया है। जामिया हमदर्द लगातार चौथे साल फार्मेसी में रैंकिंग में शीर्ष पर है। मिरांडा हाउस ने लगातार छठे वर्ष कॉलेजों में पहला स्थान बरकरार रखा है। आईआईटी रुड़की लगातार दूसरे वर्ष आर्किटेक्चर विषय में प्रथम स्थान पर है।

इसके अलावा नेशनल लॉ स्कूल ऑफ इंडिया यूनिवर्सिटी, बेंगलुरु ने लगातार पांचवें वर्ष कानून में अपना पहला स्थान बरकरार रखा है। दिल्ली के पहले 10 कॉलेजों में से पांच कॉलेजों वाले कॉलेजों की रैंकिंग में दिल्ली के कॉलेजों का दबदबा कायम है। सविता इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल एंड टेक्निकल साइंसेज ने मणिपाल कॉलेज ऑफ डेंटल साइंसेज, मणिपाल को पीछे छोड़ते हुए डेंटल सब्जेक्ट में पहली बार शीर्ष स्थान हासिल किया है।